ताज़ा खबर :
prev next

खुद को आरटीओ बताकर वसूली करने वाले दो गिरफ्तार

खुद को आरटीओ बताकर वसूली करने वाले दो गिरफ्तार

गाज़ियाबाद। इंदिरापुरम थाना क्षेत्र अंतर्गत खुद को आरटीओ बताकर वाहन चालकों से वसूली कर रहे दो युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दोनों ने एक बोलेरो कार पर उत्तर प्रदेश सरकार लिखवाकर नीली बत्ती भी लगा रखी थी। वाहन चालकों को चेकिंग के लिए रोकते और सीज करने के नाम पर वसूली करते थे। दोनों को पुलिस ने जेल भेज दिया है।

पुलिस क्षेत्राधिकारी इंदिरापुरम धर्मेंद्र चौहान ने बताया कि सोमवार रात नीतिखंड चौकी प्रभारी को सूचना मिली कि खुद को आरटीओ बताकर दो युवक वाहन चालकों से ठगी कर रहे हैं। पुलिस ने शक्तिखंड-एक से दोनों को वसूली करते हुए गिरफ्तार कर लिया। दोनों के पास से पुलिस ने नंबर प्लेट पर उत्तर प्रदेश सरकार लिखी और नीली बत्ती लगी बोलेरो कार, एक डंडा, 15 सौ रुपये व अन्य सामान बरामद किया है। आरोपियों की पहचान महेश निवासी साहिबाबाद और अनिल निवासी झंडापुर के रूप में की गई है। गिरफ्तार आरोपितों में अनिल सरगना है। अनिल अपनी कार वन और वाणिज्य कर विभाग में संविदा पर चलाता था। अधिकारियों को चेकिंग करता देख उसके दिमाग में ठगी का प्लान बना था।

महेश नीली बत्ती लगी कार फर्जी आरटीओ बनकर बैठता था। अनिल कॉमर्शियल नंबर के वाहनों को रोककर पेपर की जांच करता था। पेपर देखने के बात फर्जी बताकर बोलता था कि आरटीओ साहब से मिलो। महेश वाहन को सीज करने की धमकी देता था। इस तरह दबाव बनाकर वाहन चालकों से दोनों रुपये वसूलते थे। पुलिस के मुताबिक दो दिन पूर्व दोनों ने एक चालक से 1500 रुपये वसूले थे। सोमवार को दोबारा रोक लिया और फर्जी कागज बताकर दोनों वसूली करने लगे। इस पर युवक ने पुलिस से मामले की शिकायत की थी।

शरब में आरटीओ के नाम पर वसूली की धंधा नहीं थम रहा है। पिछले दिनों इंदिरापुरम पुलिस ने एनएच नौ से एक युवक को गिरफ्तार किया था। युवक कामर्शियल नंबर के वाहनों से यूपी एआरटीओ रोड टैक्स जमा करने के नाम पर ठगी कर रहा था। अभी भी बार्डर पर इस तरह टैक्स जमा कराए जा रहे हैं। आरटीओ की तरफ से प्रेस नोट जारी कर कहा गया था कि ऑनलाइन रोड टैक्स जमा किया जा सकता है। उनकी कोई ब्रांच नहीं है।

 

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।