ताज़ा खबर :
prev next

अब डेस्क-बेंच पर पढ़ाई करेंगे सरकारी स्कूलों के बच्चे

अब डेस्क-बेंच पर पढ़ाई करेंगे सरकारी स्कूलों के बच्चे

गाज़ियाबाद। परिषदीय स्कूलों की शिक्षा गुणवत्ता में सुधार के लिए डेस्क बेंच भी उपलब्ध कराया जाएगा। 80 उच्च परिषदीय स्कूलों के लिए शासन ने बेसिक शिक्षा विभाग को अवस्थापना सुविधाओं के विकास के लिए 1.24 करोड़ रुपये का बजट दिया है। जिले के 195 उच्च प्राथमिक विद्यालयों को स्मार्ट बनाने की योजना में विभाग का यह पहला कदम है। इस योजना के तहत नगर क्षेत्र लोनी, रजापुर और डासना देहात के 80 स्कूलों का चयन किया जाएगा। बेसिक शिक्षा विभाग ने स्कूलों को चयनित करने की सूची तैयार करनी शुरू कर दी है। जिस स्कूल में अवस्थापना सुविधाओं की सबसे ज्यादा कमी हैं, उस स्कूल को चयनित कर डेस्क और बेंच उपलब्ध कराया जाएगा। इसके अलावा स्कूलों में छात्र-छात्राओं के लिए शौचालय की व्यवस्था भी की जाएगी।

स्कूलों में बेसिक मूलभूत सुविधाओं और पढ़ाई के लिए माहौल बनाने के मामले में पब्लिक स्कूलों ने सरकारी स्कूलों को काफी पीछे छोड़ दिया है। कई सरकारी स्कूल ऐसे भी हैं, जहां न बाउंड्री है और न ही शौचालय की व्यवस्था। रूम जर्जर अवस्था में हैं, यहां तक कि बच्चे सर्दी, गर्मी व बरसात के मौसम में भी जमीन पर बैठ कर पढ़ने को मजबूर है। बच्चों को बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने की दिशा में डेस्क बेंच उपलब्ध कराना नया कदम है।

नगर क्षेत्र में परिषदीय उच्च विद्यालयों की हालत सबसे ज्यादा खराब है। स्कूल में अव्यवस्था होने के कारण बच्चे पढ़ाई नहीं कर पा रहे है। कार्य चालू कराने के लिए चारों जोन के अधिकारियों को निर्देश दे दिए गए हैं। जिस सरकारी स्कूल में छात्रों की सबसे संख्या 100 या उससे अधिक होगी उस स्कूल को सूची में रखा जाएगा। जल्द ही स्कूल में डेस्क और बेंच लगाने का काम शुरू करा दिया जाएगा।

इस योजना के लिए जिलाधिकारी की अगुवाई में एक टीम गठित की जाएगी। अप्रैल माह से योजना के तहत व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी। इस कमेटी में डीएम के अलावा मुख्य विकास अधिकारी (सीडीओ), डीएम द्वारा नामित लघु उद्योग का प्रतिनिधि, वित्त एंव लेखाधिकारी सदस्य होंगे। जबकि बेसिक शिक्षा अधिकारी सदस्य सचिव रहेंगे।

 

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।