ताज़ा खबर :
prev next

मेरठ रोड पर जल्द ही बनने शुरु होंगे बैक टू बैक यूटर्न

मेरठ रोड पर जल्द ही बनने शुरु होंगे बैक टू बैक यूटर्न

गाज़ियाबाद। मेरठ रोड पर मुरादनगर और मोदीनगर में ट्रैफिक जाम की समस्या को दूर करने के लिए प्लान बनेगा। इसी के हिसाब से दोनों कस्बों में बैक टु बैक यूटर्न बनाए जाएंगे। ट्रैफिक स्टडी करने के बाद ही प्लान तैयार होगा।

राजनगर एक्सटेंशन से लेकर मोदीनगर तक मेरठ रोड पर कई जगह जाम लगता है। इस समस्या से निजात दिलाने के लिए हाल ही में यूपी सरकार ने 1.40 करोड़ रुपये रिलीज किए हैं। इस पैसे से मेरठ रोड पर डिवाइडर की ऊंचाई एक मीटर बढ़ाई जा रही है। साथ ही अवैध कट बंद किए जा रहे हैं। यह काम आधा पूरा हो चुका है। इसका मकसद है कि वाहन चालक गलत तरीके से लेन जंप न करें।

हालांकि इसके बाद भी यातायात में अधिक सुधार नहीं हुआ। ऐसे में अब फैसला लिया गया है कि इस रूट पर ट्रैफिक का अध्ययन करने के बाद एक योजना बनाई जाए। फिर इसके हिसाब से तय हो कि कहां-कहां यूटर्न बनाने से राहत मिलेगी। पीडब्ल्यूडी ने इस प्रॉजेक्ट पर काम शुरू कर दिया है। विभाग के अधिशासी अभियंता मनीष वर्मा ने बताया कि ट्रैफिक प्लान के तैयार होने के बाद यूटर्न बनाए जाएंगे।

बैक टु बैक यूटर्न में एक ही पॉइंट पर दो यूटर्न होते हैं। इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि विपरीत दिशा से आ रहे वाहन एक ही जगह से एक साथ मुड़ सकते हैं। दूसरी ओर सिंगल यूटर्न में सड़क पर दो अलग जगह कट बनाए जाते हैं। बैक टु बैक यूटर्न में सड़क को एक ही पॉइंट पर चौड़ा करना पड़ता है।

इस रूट पर मेरठ, मुजफ्फनगर और सहारनपुर के अलावा उत्तराखंड जाने वाले ट्रैफिक का भी दबाव रहता है। साथ ही जीटी रोड से लखनऊ जाने वाले वाहन भी मेरठ रोड पर मुड़कर मोदीनगर के रास्ते आगे जाते हैं। दो से ढाई लाख वाहन इस सड़क से होकर हर दिन गुजरते हैं। जाम नहीं लगा हो तो भी इस रूट पर वाहनों की औसत रफ्तार 25 से 30 किमी प्रति घंटा ही रहती है।

 

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।