ताज़ा खबर :
prev next

एनजीटी के आदेश पर हज हाउस हुआ सील, यूपी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने की कार्यवाही

एनजीटी के आदेश पर हज हाउस हुआ सील, यूपी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने की कार्यवाही

गाज़ियाबाद | करोड़ों की लागत से हिंडन नदी तट पर बने आला हजरत हज हाउस आज जिला प्रशासन द्वारा सील कर दिया गया। एडीएम सिटी हिमांशु गौतम ने बताया कि सीलिंग की कार्यवाही राष्ट्रीय हरित अभिकरण के आदेश पर की गई है। बता दें कि अखिलेश यादव के नेतृत्व वाली समाजवादी पार्टी की सरकार के दौरान बना यह हज हाउस शुरू से ही विवाद के घेरे में रहा है। गाज़ियाबाद के पर्यावरण प्रेमियों कि संस्था रेजिडेंट ऑफ़ गाज़ियाबाद वेलफेयर एसोसिएशन द्वारा एनजीटी में में एक याचिका दायर की गई थी जिसके मुताबिक यह हज हाउस हिंडन नदी के डूब क्षेत्र में अवैध रूप से बनाया गया था। हज हाउस के लिए अधिग्रहित की गई भूमि के मालिकाना हक़ को लेकर भी मामला विचाराधीन है।

याचिका दायर करने वालों में से एक और कवि नगर के पार्षद हिमांशु मित्तल ने बताया कि राष्ट्रीय हरित अभिकरण में चली लम्बी सुनवाई की बात ग्रीन कोर्ट ने कहा कि वह हज हाउस के लिए अधिग्रहित की गई ज़मीन के मालिकाना हक़ को लेकर फैसला करना उसके न्यायक्षेत्र में नहीं है। एनजीटी केवल इस हज हाउस के पर्यावरण सम्बन्धी पहलुओं पर ही अपना फैसला सुना सकती है।

ग्रीन कोर्ट ने पाया कि आला हज़रत हज हाउस का निर्माण हिंडन नदी के डूब क्षेत्र में नहीं हुआ है, यही कारण है कि वह हज हाउस को ध्वस्त करने के आदेश नहीं दे सकती है। अदालत ने पाया कि हज हाउस के निर्माण के दौरान पर्यावरण संरक्षण सम्बन्धी नियमों की अनदेखी की गई है और आदेश पारित किया कि जब तक हज हाउस में 136 KLD क्षमता का एसटीपी प्लांट नहीं बन जाता, इसे प्रयोग में न लाया जाये और तब तक हज हाउस को सील कर दिया जाए।


आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।

By हमारा गाज़ियाबाद ब्यूरो : Monday 16 जुलाई, 2018 21:27 PM