ताज़ा खबर :
prev next

साथ लड़ेंगे तभी बचेंगे, सोनिया गांधी ने शुरू की विपक्ष को एक करने की कवायद, मायावती ने किया किनारा

साथ लड़ेंगे तभी बचेंगे, सोनिया गांधी ने शुरू की विपक्ष को एक करने की कवायद, मायावती ने किया किनारा

नई दिल्ली | संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कल संसद में वित्त मंत्री अरुण जेटली का बजट भाषण खत्म होते 17 गैर राजग दलों के साथ एक बैठक की। इस बैठक में सोनिया गांधी ने राष्ट्रीय महत्व के मुद्दों पर संसद और उसके बाहरी विपक्षी एकता आह्वान किया। बैठक में सपा, राजद समेत तमाम दलों ने हिस्सा लिया, लेकिन बसपा इस बैठक से नदारद दिखी। कांग्रेस संसदीय दल की नेता और संप्रग अध्यक्ष सोनिया ने कहा कि विपक्षी नेताओं को राज्य के मुद्दों पर अपने मतभेदों को एकतरफ रख देना चाहिए और राष्ट्रीय स्तर पर बीजेपी से टक्कर लेने के लिए साथ आना चाहिए।

वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने बताया कि सोनिया गांधी ने बैठक में कहा, ‘हम सभी को संसद और उसके बाहर साझा पहल एवं रणनीति अपनानी चाहिए।’ राज्यों में विभिन्न दलों के बीच मतभेद हो सकते हैं, लेकिन राष्ट्रीय मुद्दों पर मतभेद नहीं होने चाहिए। हमें एकजुट रहना चाहिए. सोनिया गांधी ने कहा, ‘धर्म और जाति को लेकर फैलाई जा रही हिंसा व राष्ट्रीय सरोकार से जुड़े कई अन्य मुद्दों पर हमें चौकस रहना होगा। हमें अपने मतभेदों को एक तरफ रखते हुए साथ आना होगा।’ पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘हमें राष्ट्रीय महत्व के मुद्दों पर साथ मिलकर काम करना होगा। जहां तक घृणा की विचारधारा की बात है तो हमें सावधान रहने की जरूरत है। देश में जाति और धर्म के आधार पर व्यापक हिंसा हो रही है। संवैधानिक संस्थानों को कमतर किया जा रहा है।’ पार्टी की कमान अपने पुत्र राहुल गांधी को सौंपने के बाद सोनिया गांधी ने पहली बार विपक्ष की बैठक की अगुवाई की है।’


आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।

By हमारा गाज़ियाबाद ब्यूरो : Tuesday 20 फ़रवरी, 2018 07:36 AM