ताज़ा खबर :
prev next

योगी सरकार की नई औद्योगिक नीति से मिलेगा लाखों को रोजगार, उद्यमियों की मदद के लिए 1 फरवरी को नोएडा में होगा सेमिनार

योगी सरकार की नई औद्योगिक नीति से मिलेगा लाखों को रोजगार, उद्यमियों की मदद के लिए 1 फरवरी को नोएडा में होगा सेमिनार

लखनऊ | उत्तर प्रदेश सरकार ने हाल ही में देश के विभिन्न बड़े शहरों में रोड शो कर उद्यमियों को प्रदेश में निवेश करने का न्योता दिया है। नई औद्योगिक नीति की घोषणा करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश में फूड पार्क, कॉपर इण्डस्ट्री, हार्वेसिंट्ग केमिकल्स, ऑटोमोबाइल एवं प्लास्टिक इण्डस्ट्री, आई़ टी़ इलेक्ट्रानिक में निवेश का बड़ा मौका है। सिंगल विंडो सिस्टम और कारोबार सुगमता से लागू किया गया है। श्रम कानूनों में बदलाव को मंजूरी दी गई है। करीब 1,200 गैरजरुरी कानून खत्म किए जा रहे हैं।

प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना के अनुसार उद्यमियों की मदद और फाइलों को तेजी से आगे बढ़ाने के लिए अब फिजिकल फाइल की जगह ई-फाइलें बनायी जाएंगी। “मेक इन इण्डिया” की तर्ज पर “मेक इन यू़ पी़” कार्यक्रम लागू किया जा रहा है। इसमें उद्योगपतियों को विशेष सहूलियतें दी जाएंगी। औद्योगिक रुप से पिछड़े इलाके बुन्देलखण्ड और पूर्वी उत्तर प्रदेश में निवेश करने वालों को जीएसटी में छूट दी जाएगी।

प्रदेश सरकार की नई औद्योगिक विकास नीति के बारे में अधिक जानकारी देने तथा उद्यमियों की समस्याओं को समझ कर उनके समाधान तलाशने के उद्देश्य से आगामी 1 फरवरी को नोएडा की गौतम बुद्ध यूनिवर्सिटी के हॉल नंबर 2 में एक सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। यह सम्मेलन सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक जारी रहेगा। इस सम्मेलन में यूपीएसआईडीसी के प्रबंध निदेशक रणवीर प्रसाद, आईडीसी अनूप चंद पांडे, संतोष यादव (सेक्रेटरी-आईआईडी) समेत यूपीएसआईडीसी के अनेक उच्च अधिकारी भाग लेंगे। हमारे गाज़ियाबाद की गिनती देश के सबसे बड़े औद्योगिक क्षेत्रों में होती है, हम गाज़ियाबाद के सभी औद्योगिक संगठनों के प्रतिनिधियों और उद्यमियों से अनुरोध करते हैं कि वे इस सम्मेलन में भाग लेकर प्रदेश सरकार की नई नीतियों के बारे में जानकारी लें और अपनी समस्याओं के बारे में उच्च अधिकारियों से विचार विमर्श करें।


आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।


आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।