ताज़ा खबर :
prev next

सावधान – ट्रैफिक सिग्नल पर भीख देना अब माना जाएगा अपराध, देना होगा जुर्माना

सावधान – ट्रैफिक सिग्नल पर भीख देना अब माना जाएगा अपराध, देना होगा जुर्माना

गाज़ियाबाद | जल्द ही गाड़ी में बैठे-बैठे ट्रैफिक सिग्नल पर किसी को भीख देना या अखबार, पत्र पत्रिका या कुछ सामान खरीदना आपकी जेब पर भारी पड़ सकता है। ऐसी गतिविधियां मोटर यान अधिनियम के तहत यातायात नियमों के उल्लंघन के तौर पर शामिल कर ली गई हैं। इसलिए ऐसा कुछ करने पर ज़ुर्माना चुकाना पड़ सकता है।

सूत्रों के मुताबिक़ मोटर यान अधिनियम में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने जो नए प्रावधान जोड़े हैं उनके बारे में बहुत से लोगों को अभी पता ही नहीं है मसलन- कार में आगे या पीछे कहीं भी डीवीडी स्क्रीन लगी होना, वाइपर का न होना या स्पीडो मीटर का काम न करना आदि भी यातायात नियमों के उल्लंघन की श्रेणी में शामिल है। ऐसी वज़हों से यातायात पुलिस 100 से लेकर 1,000 रुपए तक ज़ुर्माना वसूल सकती है और चालान भी हो सकता है।
हालांकि अभी इन बदलावों के बारे में यातायात पुलिस के जवानों को ही ज़्यादा पता नहीं है। यही कारण है कि लगातार नियमों का उल्लंघन होने के बावज़ूद कार्रवाई नहीं हो पा रही है। अख़बार के प्रतिनिधि ने दिल्ली यातायात पुलिस के ही कई जवानों से इस बाबत बात की। उनमें से अधिकतर ने माना कि उन्हें इन नियमों की जानकारी ही नहीं है कि वे ट्रैफिक सिग्नलों पर घूमने वाले हॉकरों-भिखारियों या उन्हें बढ़ावा देने वालों पर कार्रवाई कर सकते हैं।

यातायात के नए नियमों के बारे में आमजन को जानकारी देने के लिए दिल्ली पुलिस जल्द ही एक अभियान शुरू करने वाली है। दिल्ली पुलिस के यातायात प्रमुख दीपेंद्र पाठक बताते हैं कि हम जल्दी ही गाड़ियों से क्रैश गार्ड और डीवीडी स्क्रीन हटवाने के साथ लोगों को नए नियमों के बारे में जागरूक करने का अभियान चलाएंगे। उन्हें इनसे जुड़े ख़तरों के बारे में बताएंगे, इसके बाद आगे चलकर कानून के मुताबिक़ ज़ुर्माना वसूलने या चालान काटने आदि की कार्रवाई शुरू की जाएगी।


आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।

By हमारा गाज़ियाबाद ब्यूरो : Tuesday 20 फ़रवरी, 2018 07:36 AM