ताज़ा खबर :
prev next

एक घर ऐसा भी जहाँ पेड़ों पर लटकता है गृहस्थी का सामान..

एक घर ऐसा भी जहाँ पेड़ों पर लटकता है गृहस्थी का सामान..

गाज़ियाबाद। गाज़ियाबाद स्टेशन परिसर में आपको यह दृश्य जरुर देखने को मिला होगा। इस पूरे परिसर को बेसहारा लोगों ने अपना घर बना रखा है। रेलवे प्रशासन इनको यहाँ से कई बार हटाने की कोशिश कर चुका है लेकिन इनका कोई स्थाई घर न होने के चलते ये सालों से यहीं बसे हुए हैं। गर्मी हो या बरसात या फिर ठण्ड, इनका बसेरा यहीं रहता है।

इनकी आर्थिक स्थिति बहुत ही कमजोर है ये अपने एक दिन का भी भोजन नहीं जुटा पाते हैं। और इनके बच्चे भी सड़क पर ही रहते है। इनके पास जो कुछ भी है वह अपने साथ ही लेकर घूमते हैं अधिकतर इनके पास तन ढकने के पर्याप्त कपडें और कुछ भोजन जो आपको पेड़ पर टंगे दिखाई देंगे, यही है इनका घर आज यहाँ तो कल जाने कहाँ हो।

देश में गरीबी एक बड़ा मुद्दा है। देश की लगभग सभी सरकारों ने इस वर्ग की बुनियादी जरूरतों को पूरा करने के लिए समय समय पर विभिन्न योजनाओं का सहारा लिया हैं। इस पर हर साल अरबों रुपये खर्च होता है, फिर भी गरीबों की बदहाली दूर नहीं हो पाती।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।