ताज़ा खबर :
prev next

वसुंधरा में दो सबस्टेशन को डेढ़ सालों में नहीं मिले ट्रांसफार्मर

वसुंधरा में दो सबस्टेशन को डेढ़ सालों में नहीं मिले ट्रांसफार्मर

गाज़ियाबाद। वसुंधरा में दो नए सबस्टेशन बनकर तैयार हैं, लेकिन डेढ़ वर्ष में ट्रांसफार्मर न मिलने की वजह से शुरू नहीं हो पाए हैं। इस वजह से 33 केवी सबस्टेशन से बिजली आपूर्ति नहीं हो सकी है। जबकि नए सबस्टेशन के शुरू होने से करीब 50 हजार की आबादी को राहत मिलेगी।

विद्युत निगम के वसुंधरा सेक्टर-10, 16 और 19 में 33 केवी सबस्टेशन बने हैं। वसुंधरा में पिछले पांच वर्षों में आबादी लगातार बढ़ रही है। इस वजह से सबस्टेशन पर मानक से ज्यादा उपभोक्ताओं की संख्या हो गई। इस वजह से सबस्टेशन पर ओवर लोड की समस्या भी बनी है। ऐसे में भीषण गर्मी में जंफर उड़ने, पैनल बॉक्स, ट्रांसफार्मर फूंकने आदि से लोगों को लंबी बिजली कटौती झेलनी होती है।

लोगों की समस्याओं को दूर करने के लिए विद्युत निगम ने दो नए सबस्टेशन का निर्माण कराया था। परिषद ने वसुंधरा सेक्टर-7 और 8 में सबस्टेशन का निर्माण कार्य डेढ़ साल पहले पूरा कर लिया था। वहीं परिषद ने सबस्टेशन के लिए 33 केवी भूमिगत केबल बिछाने का काम भी करा लिया है। बिजली आपूर्ति के लिए सबस्टेशन परिसर में ओपन यार्ड का काम भी पूरा हो गया है।

यहां पर 10-10 एमवीए के ट्रांसफार्मर लगते ही सबस्टेशन से बिजली आपूर्ति शुरू हो जाएगी। विद्युत निगम को मार्च 2017 से सबस्टेशन से बिजली आपूर्ति शुरू करनी थी, लेकिन आज तक भी शुरू नहीं हो सके हैं। विद्युत निगम की माने तो सबस्टेशन को मिले ट्रांसफार्मर लैब में जांच के लिए गए थे। वहां पर जांच के बाद से ट्रांसफार्मर नहीं आए है।

 

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।