ताज़ा खबर :
prev next

जिले में हजारों धार्मिक स्थलों पर लगे हैं अवैध लाउडस्पीकर, अब शोर मचाने के लिए लेनी होगी अनुमति

जिले में हजारों धार्मिक स्थलों पर लगे हैं अवैध लाउडस्पीकर, अब शोर मचाने के लिए लेनी होगी अनुमति

गाज़ियाबाद | जिला प्रशासन इन दिनों गाज़ियाबाद में धार्मिक स्थलों और अन्य स्थानों पर लगे ध्वनि विस्तारक यंत्रों (लाउड स्पीकरों) के सर्वे का काम चल रहा है। अब तक 695 स्थानों की पहचान कर उन्हें लाउडस्पीकर उतारने के नोटिस जारी कर दिये गए हैं। इनमें से बहुत से धार्मिक स्थलों के प्रबन्धकों ने लाउड स्पीकर लगाने के लिए प्रार्थना पत्र दे दिए हैं। स्थानीय पुलिस अब इन इलाकों का सर्वेक्षण कर लाउडस्पीकर की जरूरत संबंधी अपनी रिपोर्ट भेजगी। उसके बाद ही यहाँ लाउडस्पीकर लगाए जा सकते हैं। एडीएम हिमांशु गौतम ने बताया कि एक धार्मिक स्थल पर एक लाउडस्पीकर लगाने की ही अनुमति मिलेगी। बता दें कि इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेशों के पश्चात अब प्रदेश में किसी भी जगह पर लाउडस्पीकर लगाने से पहले सरकार से अनुमति लेकर निर्धारित मानकों के अनुरूप ही लाउडस्पीकर लगाए जा सकते हैं।

क्या उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड मानव संसाधनों की कमी के चलते गाज़ियाबाद जिले में लगे सभी लाउडस्पीकरों पर नज़र रख पाएगा? बता दें कि अभी कुछ दिन पहले तक प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के गाज़ियाबाद रीज़नल कार्यालय के पास ध्वनि प्रदूषण मापने के लिए जरूरी संयंत्र तक नहीं थे।

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।

By हमारा गाज़ियाबाद ब्यूरो : Thursday 22 फ़रवरी, 2018 14:26 PM