ताज़ा खबर :
prev next

मोबाइल लूट का विरोध करने पर कर देते थे हत्या, नशेड़ी गैंग के आठ बदमाश गिरफ्तार

मोबाइल लूट का विरोध करने पर कर देते थे हत्या, नशेड़ी गैंग के आठ बदमाश गिरफ्तार

गाज़ियाबाद। क्राइम ब्रांच और मसूरी पुलिस ने मसूरी में छात्र और विजयनगर में युवक की हत्या का पर्दाफाश कर दिया है। पुलिस ने नशेड़ी गैंग के छह बदमाश समेत आठ लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपी बीते दो साल में करीब एक हजार लोगों से लूट कर चुके हैं। आरोप है कि शराब से लेकर गांजा आदि सभी नशे करने वाला यह गिरोह महज मोबाइल के लिए लोगों की हत्या कर देता था। रविवार सुबह पुलिस ने गिरोह के नईम, शाहरुख, नईम उर्फ सलमान, गुलफाम, वाहिद व असलम और लूट के मोबाइल खरीदने वाले इसराइल व आकिल को गिरफ्तार किया है। आरोपियों से हत्या में प्रयुक्त चाकू, छात्र का मोबाइल व 3200 रुपये बरामद किए हैं।

घटनाओं का खुलासा 

आइएमएस कालेज में बीएससी बायोटेक द्वितीय वर्ष का छात्र लोकेश श्रीवास्तव न्यू इयर पर जश्न के लिए दोस्तों के साथ नैनीताल जाने वाला था। 30 दिसंबर की रात 11 बजे वह डासना आरओबी के पास पैदल फोन पर बात करते हुए जा रहा था। बदमाशों के मुताबिक लोकेश का कहना था कि उसे पैसे मिल गए। इसके बाद सभी छह बदमाशों ने उसका पीछा किया और आरओबी के नीचे उससे लूट करने लगे। विरोध पर नशे में सभी आरोपियों ने लोकेश पर चाकुओं से 40 से अधिक वार कर मौत के घाट उतार दिया। आरोपी उसका मोबाइल और रुपये लेकर भाग गए थे। आरोपियों ने लोकेश का मोबाइल लूट सरूरपुर, मेरठ निवासी आकिल को बेच दिया था।

एसएचओ विजयनगर नरेश कुमार सिंह के मुताबिक शाहरुख ने ही विजयनगर में अरविन्द की हत्या की थी। बता दें कि 12 जनवरी की रात साढ़े नौ बजे प्रताप विहार में संतोष मेडिकल कालेज के पास अरविन्द और यतीश पर चाकू से हमला कर दिया गया था। अर¨वद की मौके पर ही मौत हो गई थी, जबकि यतीश गंभीर रूप से घायल हो गया था। शाहरुख से बरामद मोबाइल की लोकेशन अरविन्द की हत्या वाले स्थान पर मिली है। शाहरुख ने बताया कि नशे में उसने अरविन्द के पेट पर चाकू लगा मोबाइल मांगा था। विरोध पर उसने अरविन्द और यतीश पर चाकू से हमला कर दिया था। यतीश एक चाकू लगने के बाद भाग गया, जबकि अरविन्द पर आरोपी ने कई वार किए थे। उसकी मौत हो जाने पर शाहरुख बिना मोबाइल लिए ही फरार हो गया था।

मसूरी थाने के प्रभारी अध्यक्ष एसआइ संतोष कुमार ने बताया कि पकड़े गए छह बदमाश बेहद ही शातिर हैं। सभी नशा करते हैं और शराब के साथ गांजा व भांग भी पीते हैं। सभी अपने साथ चाकू रखते हैं और दोहरा नशा करने के बाद ही वारदात करते हैं। पुलिस का दावा है कि आरोपी बीते 1-2 साल में करीब एक हजार लोगों से लूट कर चुके हैं। पुलिस के मुताबिक नशेड़ी गैंग डासना से नोएडा तक वारदात करता था। यह गैंग रात के 10 बजे के बाद ही सक्रिय होता था और वारदात के बाद पूरे दिन नशा करते थे।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।