ताज़ा खबर :
prev next

ब्रेड का सैंपल फेल, कंपनी के खिलाफ नोटिस जारी

ब्रेड का सैंपल फेल, कंपनी के खिलाफ नोटिस जारी

गाज़ियाबाद। ब्रेड के नाम पर जनता को जहर खिलाया जा रहा है। खाद्य एवं औषधि सुरक्षा विभाग द्वारा लिया गया ब्रेड का सैंपल फेल हो गया है, जिसमें खाद्य रंग निर्धारित मात्रा से अधिक पाया गया है। जांच रिपोर्ट के बाद विभाग ने ब्रेड बनाने वाली मोहन नगर स्थित कंपनी पालेराम एंड संस के खिलाफ नोटिस की कार्रवाई शुरू कर दी। बताया जा रहा है कि संबंधित कंपनी लुुधियाना स्थित बोन न्यूट्रिशन प्राइवेट लिमिटेड के लिए ब्रेड तैयार करने का काम करती थी। ब्रेड में इस्तेमाल की जा रही टूटी फ्रूटी में सामान्य से करीब दो गुना रंग मिला है जो शरीर के लिए घातक है।

सामान्य तौर पर खाद्य पदार्थों में खाद्य रंग 100 पीपीएम (पार्ट पर मिलियन) तक मिलाया जा सकता है। उससे अधिक रंग शरीर के लिए हानिकारक है। अगर नियमित तौर पर निर्धारित मात्रा से अधिक कलर वाले रंगों का इस्तेमाल किया जाता है तो किडनी, लिवर में इंफेक्शन से लेकर कैंसर तक की बीमारी हो सकती है। विभाग के मुख्य खाद्य अधिकारी मनोज तोमर ने बताया कि पालेराम एंड संस कंपनी बोन ब्रेड बनाती है। विभागीय टीम ने 14 दिसंबर 2017 को कंपनी के यहां से ब्रेड और मल्टी ब्रेड कंस्ट्रेन (मिश्रित पदार्थ) का सैंपल भरा था।

अब जांच रिपोर्ट सामने आई तो काफी चौंकाने वाली रिपोर्ट आई है। मल्टी ब्रेड कंस्ट्रेन में पैकेजिंग का उल्लंघन पाया गया है। क्योंकि उस पर पूरी घोषणाएं नहीं की गई थी। वहीं ब्रेड की टूटी फ्रूटी में रंग 190 पीपीएम तक पाया गया है। अब विभाग संबंधित निर्माता कंपनी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की कार्रवाई करेगा। इससे पहले कंपनी को नोटिस जारी किया जाएगा।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।