ताज़ा खबर :
prev next

देश की सर्वोच्च अदालत में सब कुछ नहीं है सही, चार जज कर रहे हैं प्रैस कान्फ्रेंस

देश की सर्वोच्च अदालत में सब कुछ नहीं है सही, चार जज कर रहे हैं प्रैस कान्फ्रेंस

नई दिल्ली | देश के इतिहास में पहली बार सुप्रीम कोर्ट के चार जजों ने एक प्रैस कान्फ्रेंस कर मीडिया को संबोधित किया। जस्टिस जे. चलेमेश्वर ने कहा कि हम चारों मीडिया का शुक्रिया अदा करना चाहते हैं। यह किसी भी देश के इतिहास में अभूतपूर्व घटना है क्‍योंकि हमें यह ब्रीफिंग करने के लिए मजबूर होना पड़ा है। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में बहुत कुछ ऐसा हुआ, जो नहीं होना चाहिए था। हमें लगा, हमारी देश के प्रति जवाबदेही है और हमने भारत के मुख्य न्यायधीश को मनाने की कोशिश की, लेकिन हमारे प्रयास नाकाम रहे अगर संस्थान को नहीं बचाया गया, लोकतंत्र नाकाम हो जाएगा।
सुप्रीम कोर्ट के जज ने कहा कि भारत के मुख्य न्यायधीश को सुधारात्मक कदम उठाने के लिए कई बार मनाने की कोशिश की गई, लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण है कि हमारे प्रयास विफल रहे। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में प्रशासन सही से नहीं चल रहा है।

सुप्रीम कोर्ट के इतिहास में पहली बार आज मीडिया से बात कर रहे हैं। ये चार जज आज चीफ जस्टिस से मिले थे और उनका विरोध केसों को देने का है। ये प्रेस कॉन्‍फ्रेंस जस्टिस जे चेलामेश्वर के घर पर हो रही है। मीडिया से मिलने वाले जजों में जस्टिस जे चेलामेश्वर, जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस मदन लोकुर और जस्टिस कूरियन जोसफ शामिल हैं।

न्यायपालिका में सब कुछ सही नहीं चल रहा है। वकीलों को पता होता है कि अगर मुकदमा जीतना है तो जिला अदालत से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक किस जज की अदालत में केस लगाना है। मगर दुर्भाग्य की बात है कि न्यायपालिका में भ्रष्टाचार पर आज तक न तो मीडिया कुछ बोला है और न ही हमारे नेता।

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।

By हमारा गाज़ियाबाद ब्यूरो : Monday 22 जनवरी, 2018 06:07 AM Updated