ताज़ा खबर :
prev next

गुजरात सरकार ने किया ₹ 5 करोड़ का करार 14 वर्षीय हर्षवर्धन जाला के साथ

गुजरात सरकार ने किया ₹ 5 करोड़ का करार 14 वर्षीय हर्षवर्धन जाला के साथ

गाज़ियाबाद | किसी ने सही ही कहा है कि हुनर उम्र का मोहताज नहीं होता है और इसे साबित कर दिखाया है गुजरात के हर्षवर्धन जाला ने। हर्षवर्धन जाला की उम्र मात्र 14 साल है और इस उम्र में उन्होंने एंटी लैंड माइन ड्रोन के लिए गुजरात सरकार के साथ 5 करोड़ का एमओयू साइन किया है। यह ड्रोन पहले लैंडमाइन को डिटेक्ट करेगा फिर उसे डिफ्यूज भी करेगा।

अपने इस प्रोजेक्ट को लेकर हर्षवर्धन कहते हैं कि लैंडमाइन से सैनिकों के मारे जाने की खबर सुनकर मुझे बहुत दुख होता था। इसलिए मैंने एंटी लैंडमाइन प्रोजेक्ट पर काम करना शुरू किया। लैंडमाइन डिटेक्ट करने के लिए पहले मैंने एक रोबोट तैयार किया था। लेकिन ज्यादा वजन के चलते लैंडमाइन डिटेक्ट करने के दौरान रोबोट ब्लास्ट कर सकता था। इसलिए मैंने रोबोट की जगह ड्रोन प्रोजेक्ट पर काम करना शुरू किया।

इस ड्रोन को लेकर हर्षवर्धन बताते हैं कि इसमें हाई रिजॉल्यूशन कैमरा, RGB सेंसर, इंफ्रारेड और थर्मल मीटर लगा हुआ है। कैमरे के जरिए तस्वीर भी ली जा सकती है। ड्रोन जमीन से 2 फीट की ऊंचाई पर उड़ते हुए 8 स्क्वायर मीटर में तरंग भेजेगा। इस तरंग के जरिए लैंड माइन का पता लगाया जाएगा। लैंड माइन को ब्लास्ट करने के लिए ड्रोन 50 ग्राम वजनी बम भी ढो सकता है। इस प्रोजेक्ट पर काम जारी है। हर्षवर्धन को पूरी उम्मीद है कि उनका ड्रोन सिक्योरिटी एजेंसी के टेस्ट को पास करेगा और आने वाले दिनों में सैकड़ों सैनिकों की जान बचाई जा सकेगी।

बता दें कि Vibrant Gujarat Summit में हर्षवर्धन के साथ गुजरात सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग ने 5 करोड़ का समझौता साइन किया है। इस प्रोजेक्ट के फाइनल स्टेज में भी गुजरात सरकार ने 5 लाख की आर्थिक मदद दी है। प्रोजेक्ट कंप्लीट होने के बाद इस ड्रोन के कमर्शियल प्रोडक्शन के लिए यह करार किया गया है। हर्षवर्धन ने Aerobatics7 नाम से अपनी कंपनी भी खोली है।

भारत में युवा प्रतिभाओं की कमी नहीं है। जरूरत है तो बस पहचान कर उन्हें आर्थिक और सामाजिक रूप से प्रोत्साहित करने की।

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।

By हमारा गाज़ियाबाद ब्यूरो : Sunday 21 जनवरी, 2018 00:31 AM