ताज़ा खबर :
prev next

1984 के सिख विरोधी दंगों में 186 केसों की फिर से होगी जांच, सुप्रीम कोर्ट ने दिये आदेश

1984 के सिख विरोधी दंगों में 186 केसों की फिर से होगी जांच, सुप्रीम कोर्ट ने दिये आदेश

नई दिल्ली | सर्वोच्च न्यायालय ने 1984 के सिख विरोधी दंगों के मामले में एक महत्वपूर्ण आदेश दिया है। अदालत ने उन 186 केसों की फिर से जांच करने का आदेश दिया है जिन्हें एसआईटी ने बंद कर दिया था। कोर्ट ने कहा कि वह इन 186 केसों की जांच के लिए एक तीन सदस्यीय समिति गठित करेगा। इस समिति की अगुवाई हाईकोर्ट के एक पूर्व न्यायाधीश करेंगे।

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से आज (बुधवार) ही हाईकोर्ट के एक पूर्व न्यायाधीश की अगुवाई में प्रस्तावित तीन सदस्यीय समिति के लिए नाम सुझाने का निर्देश दिया। नई एसआईटी में हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज, वर्तमान आईपीएस और रिटायर्ड आईपीएस होंगे। शीर्ष अदालत का यह फैसला इसके द्वारा गठित एक समिति की सिफारिश के बाद आया है। समिति ने 241 बंद पड़े मामलों में से 186 को फिर से खोलने और इसकी पुन: जांच कराये जाने की सिफारिश की है। समिति ने पाया कि 186 मामलों को बिना जांच के ही बंद कर दिया गया। इस समिति में पिछले साल उच्चतम न्यायालय के दो पूर्व न्यायाधीशों को शामिल किया गया था, जिसे मामला बंद किये जाने के औचित्य की जांच करनी थी।

दुर्भाग्य की बात है कि 1984 में हुए सिख विरोधी दंगों के पीड़ितों को अभी तक न्याय नहीं मिला है। अब तक हुई अधिकतर जांच नकारा ही साबित हुई है जबकि दंगों में भारत के एक प्रमुख राजनैतिक दल के सदस्यों का स्पष्ट हाथ था। उम्मीद है सर्वोच्च न्यायालय द्वारा गठित टीम की जांच बेनतीजा नहीं होगी।

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।

By हमारा गाज़ियाबाद ब्यूरो : Tuesday 23 जनवरी, 2018 23:33 PM