ताज़ा खबर :
prev next

हाई कोर्ट के आदेश के बाद मंदिर से उतारे चालीस साल पहले लगे लाउडस्पीकर

हाई कोर्ट के आदेश के बाद मंदिर से उतारे चालीस साल पहले लगे लाउडस्पीकर

गाज़ियाबाद। हाई कोर्ट के आदेश के बाद मेरठ रोड स्थित सिद्धेश्वरनाथ मंदिर के पदाधिकारियों ने पहल करते हुए मंदिर में करीब चालीस साल पहले लगाए गए सभी लाउडस्पीकर उतार दिए। पदाधिकारियों ने अपील की है कि कोर्ट के आदेश का लोग पालन करते हुए समाज में आपसी सौहार्द का संदेश कायम करें।

मेरठ रोड पर करीब 40 चालीस वर्ष पहले मंदिर में लाउडस्पीकर लगाए गए थे। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने हाल ही में आदेश जारी किया है कि धार्मिक स्थलों पर अवैध रूप से लगाए लाउडस्पीकर को हटाने के लिए प्रदेश सरकार कार्रवाई करे। सिद्धेश्वर मंदिर समिति के उपाध्यक्ष बाबू राम अर्कवंशी के मुताबिक इस समय वायु प्रदूषण सबसे अधिक है। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने आदेश जारी कर धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर उतारने का आदेश जारी किया है, जिससे कि वायु प्रदूषण कम किया जा सके। मंदिर में श्रद्धालुओं को कोई परेशानी न हो, इसका भी पूरी तरह ख्याल रखा गया है।

वहीं, लाउडस्पीकर उतारने से पहले मंदिर समिति की बैठक आयोजित की गई, जिसमें मंदिर के पुजारी भी शामिल थे। आपसी सहमति के बाद मंदिर से तीन लाउडस्पीकर हटा दिए गए।

धर्म के साथ साथ हमारा नैतिक कर्तव्य होता है कि हम कानून, संविधान व देश के नियमों का भी पालन करें। अगर कोर्ट ने आदेश जारी किया है तो निश्चित रूप से जनहित में निर्णय लिया है। ऐसे में हमारा और समाज का परम कर्तव्य बनता है कि आदेश का पालन सभी धर्मों के लोग करें और शासन व प्रशासन का सहयोग करें।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।