ताज़ा खबर :
prev next

दिल्ली एयरपोर्ट पर उड़ानों का दबाव कम करेगा हिंडन एयरबेस

दिल्ली एयरपोर्ट पर उड़ानों का दबाव कम करेगा हिंडन एयरबेस

गाज़ियाबाद | जल्द ही गाज़ियाबाद के हिंडन एयरबेस से यात्री उड़ाने भी शुरू हो जाएंगी | नागरिक उड्डयन मंत्रालय के अनुसार यहाँ से रिजनल कनेक्टिविटी स्कीम (आरसीएस) की उड़ानों को शुरू किया जाएगा। मुख्य सचिव राजीव कुमार की अध्यक्षता में संपन्न बैठक में यह फैसला किया गया कि हिंडन में अस्थाई सिविल एन्क्लेव और सड़क निर्माण के लिए किसानों व आवास विकास परिषद की जमीन भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण लीज पर लेगा।
यह फैसला दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से यात्री दबाव को कम करने के लिए भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण द्वारा दिए गए प्रस्ताव पर किया गया। अस्थाई एनक्लेव के लिए 5.70 एकड़ भूमि चिन्हित की गई है। इसमें से कुछ भूमि किसानों की है और कुछ भूमि आवास विकास परिषद की है। फैसला किया गया कि आवास विकास परिषद उसी दर पर भूमि लीज पर देगा जिस दर पर किसान अपनी भूमि दे रहे हैं। आवास विकास परिषद से कहा गया कि इस आशय की सहमति पत्र जल्द ही प्राधिकरण को भेजे।
सड़क निर्माण, एयरपोर्ट सुरक्षा, फायर सर्विसेज और अन्य सुविधाएं जो राज्य सरकार से अपेक्षित हैं इन पर होने वाले व्यय को प्राधिकरण और प्रदेश सरकार द्वारा संयुक्त रूप से वहन किया जाएगा। राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाने वाला अंश हिंडन एयरबेस से संचालित होने वाली कुल आरसीएस उड़ानों में से प्रदेश की हवाई सेवाओं के अनुपात में होगा।
बैठक के दौरान भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण से यह अपेक्षा की गई कि हिंडन एयरबेस को आरसीएस एयरपोर्ट की सूची में शामिल करे। इस संबंध में प्राधिकरण ने बताया कि रक्षा मंत्रालय से हिंडन एयरबेस को कुछ समय के लिए ही आरसीएस उपयोग करने के लिए लीज पर दिए जाने की सहमित दी गई है। इस एयरबेस को नियमित आरसीएस एयरपोर्ट में सम्मिलित करने में कठिनाई है।
(साभार – भाषा)

हिंडन एयरबेस से यात्री विमान सुविधाएं शुरू होने के बाद हमारे गाज़ियाबाद की गिनती देश के उन गिने चुने शहरों में होने लगेगी जिनके पास खुद के एयरपोर्ट हैं। इससे गाज़ियाबाद की आर्थिक प्रगति होगी लेकिन यदि हम गाज़ियाबाद को एक विश्व स्तर का शहर बनाना चाहते हैं तो यहाँ के नागरिकों को अपनी ज़िम्मेदारी समझ कर शहर के विकास में साझेदारी निभानी होगी।

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।

By हमारा गाज़ियाबाद ब्यूरो : Sunday 21 जनवरी, 2018 00:38 AM