ताज़ा खबर :
prev next

जल जाने पर तुरंत करें ये घरेलू उपाय, दूर होगी परेशानी

जल जाने पर तुरंत करें ये घरेलू उपाय, दूर होगी परेशानी

नई दिल्ली। अक्सर आग, तेल या अन्य किसी अन्य तरल पदार्थ से स्किन जलने पर असहनीय दर्द होता है। जलने के कई कारण जैसे तेज़ धूप, आग से जलना, भाप या कोई गर्म तरल पदार्थ, बिजली या रसायनिक पदार्थ आदि हो सकते हैं। तेज जलन और दर्द के कारण घबराहट होने लगती है, कम जानकारी के अभाव में तत्काल रूप से बरती जाने वाली सावधानियां और आवश्यक उपचार नहीं कर पाते।

जलने के कई कारण जैसे गर्म तेल, गर्म पानी, किसी रसायन, गर्म बरतन पकड़ने से या दिवाली के पटाखे के बारूद से भी कोई व्यक्ति जल सकता है। इसके अलावा खाना पकाते समय महिलाएं अक्सर जल जाती हैं। जिसमें गर्म दूध या गर्म तेल से जलना मुख्य होता हैं। मामूली रूप से जलने के घाव तो समय के साथ भर जाते हैं, लेकिन गंभीर रूप से जलने पर संक्रमण को रोकने और घावों को भरने के लिए विशेष देखभाल जरूरी होती है।

जलने पर किए जाने वाले घरेलू उपचार 

जले हुए स्थान पर आलू पीसकर लेप लगाएं, इससे जले हुए स्थान पर शीतलता का अनुभव होगा।

तुलसी के पत्तों का रस जले हुए हिस्से पर लगाएं, इससे जले हुए भाग पर दाग होने की संभावना कम होती है।

तिल को पीसकर लेप बनाइये और इसे लगाये। इससे जलन और दर्द नहीं होगा। तिल लगाने से जलने वाले भाग पर पड़े दाग-धब्बे भी चले जाते हैं।

गाय के घी का लेप करें या पीतल की थाली में सरसों का तेल व पानी को नीम की छाल के साथ मिलाकर मरहम बनाएं और जले हुए स्थान पर लगाएं।

गाजर पीसकर लगाने से जले हुए हिस्से में आराम मिलता है।

जलने पर नारियल का तेल लगाएं। इससे जलन कम होगी और आराम मिलेगा।

 

यदि गंभीर समस्या हो तो जलने पर ये उपाय करें-

जले हुए स्थान को साफ और ठंडे पानी से धीरे-धीरे धोएं।

सिल्वरेक्स या बरनोल का लेप लगाएं।

प्राथमिक उपचार के तौर पर जले हुए अंग पर सोफ़रामाइसिन भी लगा सकते हैं।

मरीज़ को जल्द से जल्द चिकित्सक को दिखाएं।

चिकित्सक की सलाह के मुताबिक दवाओं का सेवन करें।

अगर आपके पास एलोवेरा जेल या एंटीबायोटिक क्रीम है तो उसे जले हुए भाग पर लगा सकते हैं।

एलोवेरा घाव भरने के साथ ही त्वचा को ठंडक भी देता है।

घाव के ऊपर ढीली पट्टी या न चिपकने वाली पट्टी बांध लें और हवा से रखें ताकि दर्द कम हो।

जख्म के थोड़ा सूखने पर सूखी पट्टी को ढीला करके बांधें, ताकि गंदगी और संक्रमण न फैले।

सांस नहीं चल रही हो तो सीपीआर (सीने पर पंप करना) दें।

जलने के बाद संक्रमण फैलने की आशंका ज्‍यादा होती है। इसलिए टिटनेस का इंजेक्शन लगावाएं।

आप जिस स्थान पर हैं यदि वहां आग लग गई है तो फर्श पर लेट जाएं और धुंए की परत से नीचे रहने की कोशिश करें।

अगर आग पूरे स्थान पर फैल रही है तो घबराएं नहीं, खुद पर काबू रखें और बाहर निकलने की कोशिश करें।

 

उम्मीद है कि आपको इस जानकारी व घरेलु उपचार से संतुष्टि मिलेगी। 

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।