ताज़ा खबर :
prev next

अपने बलिदान के लिए जानी जाती हैं हमारे देश की ये बहादूर रानियां

अपने बलिदान के लिए जानी जाती हैं हमारे देश की ये बहादूर रानियां

नई दिल्ली। इतिहास की बहुत सी रानियों का बलिदान और शौर्य गथाएं दुनियाभर में मशहूर है। हमारे देश की बहुत सी रानियां अपने जीवन से लेकर बलिदान को लेकर आज भी पूरा दुनिया में जाने जाते है। कुछ रानियों ने अपनी जान बचाने के लिए आग में कूदकर तो कुछ ने अकेले जंग लड़ कर अपनी बहादुरा का सबूत दिया। आज हम आपको ऐसी ही कुछ रानियों के बारे में बताने जा रहें है, जिनकी बहादुरी दुनियाभर के लिए मिसाल बन गई। तो आइए जानते है खूबसूरती के साथ-साथ अपनी बहादुरता और बलिदान के लिए जानी जाने वाली भारत की इन रानियों के बारे में।

1. रानी पद्मावती- अपनी खूबसूरती के साथ-साथ रानी पद्मावती को दिखाए जौहर के लिए भी जाना जाता है। रानी पद्मावती ने खिलजी की दासी न बनने के लिए 16 हजार महिलाओं के साथ जौहर करते हुए आग में कूदकर आत्मदाह कर लिया था।

2. महारानी तपस्विनी- झांसी की रानी लक्ष्मीबाई की भतीजी महारानी तपस्विनी की वीरता उस दूर-दूर तक प्रसिद्ध थी। 1857 की क्रांति में बढ़चढ़ कर हिस्सा लेने के साथ-साथ इन्होंने पाठशाला खोलकर बच्चों को राष्ट्रीयता की शिक्षा देने जैसा महान काम भी किया।

3. रानी दुर्गावती- राजा कीर्तिसिंह चंदेल से शादी करने के 4 साल बाद ही राजा की मृत्यु हो गई जिसके बाद इन्होंने अकेले ही पूरा राज्य संभाला। इसके अलावा यह मुस्लिम शासकों के विरुद्ध अकेली कड़ा संघर्ष करने वाली पहली महिला रानी थी।

4. राजकुमारी रत्नावती- जैसलमेर नरेश महारावल रत्नसिंह के किले की रक्षा अपनी पुत्री रत्नावती को सौंप दी थी। उनके जाने के बाद दिल्ली के बादशाह अलाउद्दीन के आक्रमण करने पर उन्होंने डट कर उनका मुकाबला किया और इस जंग को जीता। इसी जौहर के कारण राजकुमारी रत्नावती आज तक जानी जाती है।

5. रानी लक्ष्मीबाई- रानी लक्ष्मीबाई को दुनियाभर आज भी बहादुरी और खूबसूरती के लिए जाना जाता है। राजा गंगाधर राव के मरने के बाद रानी ने अकेले ही अग्रेजों से सबसे बड़ी लड़ाई लड़ी थी।

6. रानी द्रौपदी- रानी द्रौपदीबाई भी ने अग्रेजों से क्रांति की लड़ाई में बहुत से बलिदान दिए। 1857 क्रांति की लड़ाई में रानी ने क्रांतिकारियों की हर संभव सहायता की। अग्रेजों के खिलाफ लड़ाई में रानी ने उनका डटकर मुकाबला किया।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।