ताज़ा खबर :
prev next

गीता पढ़ने के लिए मुस्लिम लड़की के खिलाफ फतवा, लड़की बोली-श्लोक गाने से नहीं बदल गया मेरा इस्लाम

गीता पढ़ने के लिए मुस्लिम लड़की के खिलाफ फतवा, लड़की बोली-श्लोक गाने से नहीं बदल गया मेरा इस्लाम

सहारनपुर | दारूल उलूम देवबंद ने गीता के श्लोक गाने वाली लड़की आलिया के खिलाफ फतवा जारी किया है। दारूल उलूम देवबंद ने कहा है कि गीता का श्लोक पढ़ना इस्लाम के खिलाफ है। इससे पहले दारूल उलूम के ऑनलाइन फतवा विभाग के चेयरमैन मुफ्ती अरशद फारुकी ने ऐसा करने को इस्लाम विरोधी बताया था। उन्होंने कहा कि किसी भी स्कूल की मुस्लिम बच्ची या बच्चे द्वारा ऐसा रूप रखना गैर इस्लामिक है और इसकी इजाजत नहीं दी जा सकती। इस मुफ्ती ने कहा था कि ऐसे ड्रामे या पाठ जो इस्लाम के खिलाफ हो उसमें मुस्लिम बच्चों को शामिल नहीं होना चाहिए।
लेकिन आलिया ने ऐसे इस्लामिक धर्मगुरुओं को करारा जवाब दिया है। आलिया ने कहा है कि मैंने इस कॉम्पीटिशन में पुरस्कार जीता है, अपना धर्म नहीं बदल लिया है। आलिया ने कहा कि इस्लाम गाने से मेरा इस्लाम नहीं बदल गया, मेरा मजहब नहीं बदल गया। आलिया ने कहा कि हमारे धर्मगुरुओं को गीता के श्लोक गाने से कोई असर नहीं पड़ने चाहिए।

आलिया का जवाब उन कट्टरपंथियों का मुंह बंद करने के लिए काफी है जो यह समझते हैं कि दूसरे धर्मों के बारे में या आधुनिक शिक्षा अपनाने से इस्लाम खतरे में पड़ जाएगा।

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।

By हमारा गाज़ियाबाद ब्यूरो : Tuesday 24 अप्रैल, 2018 12:30 PM