ताज़ा खबर :
prev next

जानलेवा प्रदूषण से महज 10 रुपए में बचाएगा आईआईटी दिल्ली का बनाया यह फिल्टर

जानलेवा प्रदूषण से महज 10 रुपए में बचाएगा आईआईटी दिल्ली का बनाया यह फिल्टर

गाज़ियाबाद | गाज़ियाबाद समेत पूरे एनसीआर क्षेत्र में प्रदूषित वायु के कारण लोगों का सांस लेना दुर्भर हो गया है। राजधानी की मौजूदा स्थिति को देखते हुए दिल्ली आईआईटी के छात्रों और प्रोफेसरों ने जानलेवा प्रदूषण से बचने का रास्ता खोज निकाला है।

आईआईटी दिल्ली के पूर्व छात्रों, प्रोफसरों और वर्तमान में पढ़ रहे छात्रों ने नेनोक्लीन ग्लोबल प्राइवेट लिमिटेड के साथ मिलकर एक नेनो-रेस्पिरेटरी फिल्टर बनाया है। नाक के भीतर लगाने वाले ये छोटे से फिल्टर मात्र 10 रुपए में आपको पीएम 2.5 और सांस संबंधित बीमारियों से लड़ने में भी मदद करेंगे। आप इस प्रोडक्ट को आज से ऑनलाइन खरीद सकेंगे, मगर शीघ्र ही यह फ़िल्टर चुनिन्दा मेडिकल स्टोरों पर भी उपलब्ध होंगे। इस फिल्टर को पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी द्वारा ‘स्टार्टअप नेशनल अवार्ड’ दिया जा चुका है।

नेनोक्लीन ग्लोबल प्राइवेट लिमिटेड के सीईओ प्रतीक शर्मा ने कहा, ‘ये फिलटर इस्तेमाल करने वाले कि नेजल ओरिफिस (नासिका छिद्र) पर चिपक जाएगा और पार्टिकुलेट मैटर को शरीर में घुसने से रोकेगा। ये यूज एंड थ्रो बायोडिग्रेडेबल प्रोडक्ट है। इसकी कीमत बेहद कम है, जिससे हर कोई इसे खरीद भी सकता है। उन्होंने बताया कि ये फिल्टर आज (मंगलवार) से हमारी वेबसाइट nasofilters.com पर उपलब्ध होगा लेकिन बाद में ऑनलाइन शॉपिंग वैबसाइटों और अंत में रिटेल स्टोर्स के माध्यम से उपलब्ध होगा। शुरुआत दौर में ये 10 नासोफिल्टर्स के बॉक्स में मिलेगा और बाद में 30 के बॉक्स में। शर्मा ने कहा कि ये फिल्टर पीएम 10 को 100 फीसदी और पीएम 2.5 को 95 फीसदी दूर रखेगा और 8-10 घंटों तक चलेगा।

आईआईटी दिल्ली द्वारा बनाए गए ये फिल्टर न केवल किफ़ायती हैं, बल्कि इस्तेमाल में भी बहुत आसान हैं। कंपनी को चाहिए की इस प्रॉडक्ट का बड़े स्केल पर निर्माण करे ताकि इसे एनसीआर में रहने वाला हर परिवार खरीद सके।

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।

By हमारा गाज़ियाबाद ब्यूरो : Tuesday 24 अप्रैल, 2018 16:23 PM