ताज़ा खबर :
prev next

समस्याओं का लगा है अंबार और मेयर आशा शर्मा कर रही हैं खरगमास खत्म होने का इंतज़ार

समस्याओं का लगा है अंबार और मेयर आशा शर्मा कर रही हैं खरगमास खत्म होने का इंतज़ार

गाज़ियाबाद | निकाय चुनावों के बाद गाज़ियाबाद नगर निगम में नवनियुक्त पार्षदों के शपथ ग्रहण कर औपचारिक रूप से पदभार संभालने का काम काफी समय पहले पूरा हो चुका है। उम्मीद की जा रही थी कि जीत का जश्न मनाने के बाद शहर कि मेयर और पार्षद अपना ध्यान उन कामों पर लगाएंगे जिनके लिए जनता ने उन्हें चुन कर भेजा है। मगर अंधविश्वास के चलते अभी तक बहुत से पार्षदों ने निगम में काम शुरू नहीं किया है। यहाँ तक की बोर्ड की बैठक के लिए भी खरगमास के खत्म होने का इंतज़ार किया जा रहा है।

पहले उम्मीद की जा रही थी कि जनवरी के पहले हफ्ते में मेयर आशा शर्मा निगम की बैठक बुलाकर विधिवत काम शुरू कर देंगी, मगर खबर है कि यह बैठक अब खरगमास ख़त्म होने के बाद ही बुलाई जाएगी। सोमवार को साल के पहले दिन आशा शर्मा नवयुग मार्केट स्थित निगम मुख्यालय तो पहुंची मगर उनका यह उपक्रम केवल म्युनिसिपल कमिश्नर सीपी सिंह व निगम के अन्य अधिकारियों को नव वर्ष की शुभकामनाएँ देने और फोटो खिचवाने तक ही सीमित रहा।

पहले आचार संहिता और अब खरगमास की समाप्ति के इंतज़ार के कारण गाज़ियाबाद में निगम संबन्धित समस्याओं का अंबार लगा हुआ है। निगम में ऐसे बहुत से काम लटके हुए हैं जिनपर पार्षदों की सहमति आवश्यक है। निगम ने घर-घर से कूड़ा कलेक्शन का काम तो कर दिया है, मगर अभी तक इसके लिए यूजर चार्ज लेना शुरू नहीं किया है। घरों से कूड़ा उठाने के लिए कितना पैसा लेना होगा और यह पैसा कैसे लिया जाएगा, इसका निर्णय पार्षदों की सहमति से ही संभव होगा। इसका खामियाजा नगर निगम को भुगतना पड़ रहा है। कूड़ा एकत्र करने के लिए निगम की सैंकड़ों गाडियाँ दिन भर सड़कों पर घूमती हैं और इनके संचालन का सारा खर्च निगम अपने बजट से कर रहा है। यह तो सिर्फ एक उदाहरण मात्र हैं, न जाने ऐसे कितने फैसले हैं जो मेयर और पार्षदों के अंधविश्वास के चलते निगम की बैठक की बाट जोह रहे हैं।

  • ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है कि पार्षदों और मेयर की अनदेखी का खामियाजा गाज़ियाबाद की जनता को भुगतना पड़ रहा है। लेकिन यह सब इतना जल्दी शुरू हो जाएगा, इसकी किसी को आशा न थी।
  • मेयर आशा शर्मा से उम्मीद की जा रही थी कि वे अपनी निजी धार्मिक मान्यताओं से ऊपर उठकर जन समस्याओं के निस्तारण की दिशा में काम शुरू कर देंगी और शायद इसी लिए जनता ने उन्हें चुनकर भेजा था।

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।

By हमारा गाज़ियाबाद ब्यूरो : Tuesday 20 फ़रवरी, 2018 07:35 AM