ताज़ा खबर :
prev next

वसुंधरा फ्लाईओवर को मिली वन विभाग की हरी झंडी, जनवरी 18 से निर्माण शुरू

वसुंधरा फ्लाईओवर को मिली वन विभाग की हरी झंडी, जनवरी 18 से निर्माण शुरू

गाज़ियाबाद | ट्रांस हिंडन क्षेत्र में वसुंधरा रेड लाइट पर बनने वाले फ्लाईओवर को आखिरकार वन विभाग की हरी झंडी मिल ही गई। 45 करोड़ रुपये की लागत वाले इस फ्लाईओवर के बनने के बाद लोगों को इस रेड लाइट पर हर रोज लगने वाले जाम से मुक्ति मिल जाएगी।

बता दें कि वसुंधरा फ्लाईओवर को इस प्रकार से डिज़ाइन किया गया है कि फ्लाईओवर बनने के बाद वसुंधरा कट सिग्नल फ्री हो जाएगा। फ्लाईओवर के डिज़ाइन को पहले से ही आईआईटी से अप्रूव करा लिया गया है और इसका निर्माण राज्य सेतु निगम करेगा। फ्लाईओवर के निर्माण में सबसे बड़ी बाधा वन विभाग की ओर से आ रही थी। डिज़ाइन के अनुसार फ्लाई ओवर के मार्ग में लगभग 250 पेड़ आ रहे थे जिन्हें काटने की अब वन विभाग से अनुमति मिल गई है। इस अनुमति को लेने में जीडीए के अधिकारियों को एक साल से ज्यादा का समय लगा। फ्लाईओवर का निर्माण जनवरी 18 में शुरू होगा और अनुमान है कि यह फ्लाईओवर अक्तूबर 2018 तक बन कर तैयार हो जाएगा।

सरकारी निर्माण कार्यों में होने वाली देरी लागत को कई गुना बढ़ा देती है जो अपने आप में जांच का विषय है। जहां तक जीडीए का सवाल है तो इसके द्वारा प्रस्तावित प्रोजेक्ट जब तक बन कर तैयार होते हैं, समस्या कई गुना बढ़ जाती है और प्रोजेक्ट बेकार साबित होते हैं। ठाकुर द्वारा फ्लाईओवर, वसुंधरा अंडर पास, राज नगर एक्सटैन्शन चौराहा, हापुड़ चुंगी… शहर में न जाने ऐसे कितने प्रोजेक्ट हैं जो जीडीए के अधिकारियों की अदूरदर्शिता का उदाहरण हैं। इनके निर्माण से अधिकारियों के घर भले ही भर गए हों, मगर शहर को कोई विशेष लाभ नहीं मिला।

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।

By हमारा गाज़ियाबाद ब्यूरो : Tuesday 24 अप्रैल, 2018 12:26 PM