ताज़ा खबर :
prev next

नगर निगम शहर में बनाने जा रहा है दस कूड़ा ईको ट्रांसफर केंद्र

नगर निगम शहर में बनाने जा रहा है दस कूड़ा ईको ट्रांसफर केंद्र

गाज़ियाबाद। अब शहर में कूड़ा ट्रांसपोर्ट प्लान पूरी तरह से ईको फ्रेंडली होगा। निगम इसके लिए शहर में 10 कूड़ा ईको ट्रांसफर केंद्र बनाएगा। इसके लिए निगम प्रशासन ने टेंडर मांगे हैं। निगम प्रशासन का दावा है कि नए कूड़ा ईको ट्रांसफर केंद्र फरवरी से पहले ही बनकर तैयार हो जाएंगे। स्वच्छ भारत मिशन के तहत सिटी में कूड़ा मैनेजमेंट प्लान लागू किया गया है।

इसी पॉलिसी के तहत सिटी में कूड़ा ट्रांसपोर्ट का ईको फ्रेंडली प्लान तैयार किया गया है। केंद्र सरकार के निर्देश पर इस तरह का प्लान यूपी के सभी नगर निगमों में लागू किया जा रहा है। गाजियाबाद शहरी क्षेत्र से हर रोज करीब एक हजार मीट्रिक टन कूड़ा निकलता है। इस कूड़े को बिना छंटनी के ही सीधा डंपिंग ग्राउंड में ले जाकर डंप कर दिया जाता है। इसके चलते प्रताप विहार के पास कूड़े का ढेर लगता जा रहा है।

नए कूड़ा मैनेजमेंट प्लान में इस तरह से कूड़े का ढेर नहीं लगेगा। इसके लिए नगर निगम को कूड़े से वेस्ट टु एनर्जी या फिर कंपोस्ट बनाना अनिवार्य होगा। इसीलिए केंद्र सरकार के नियमानुसार नगर निगम प्रत्येक जोन में दो-दो ईको ट्रांसफर केंद्र बनाने जा रहा है। नगर आयुक्त सी.पी. सिंह के मुताबिक जिस जोन में दस कूड़ा ईको ट्रांसफर केंद्र बनाने हैं इनमें कविनगर, वसुंधरा, मोहननगर, विजय नगर जोन आदि हैं। नगर आयुक्त ने दावा किया कि फरवरी में इन सभी ईको कूड़ा ट्रांसफर केंद्रों को एक्टिव कर दिया जाएगा। इससे शहर में कूड़े को वैज्ञानिक तरीके से निस्तारण करने में मदद मिलेगी।

 

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।