ताज़ा खबर :
prev next

बाल दिवस पर एसपी कन्नौज ने दिया अनोखा तोहफा, गरीब बच्ची की पढ़ाई का उठाएंगे सारा खर्चा

बाल दिवस पर एसपी कन्नौज ने दिया अनोखा तोहफा, गरीब बच्ची की पढ़ाई का उठाएंगे सारा खर्चा

कनौज | आज बाल दिवस के दिन कन्नौज के एसपी ने एक छात्रा को ऐसा तोहफा दिया है जिसे वो तो कभी नहीं भूल पाएगी लेकिन उसके साथ-साथ उसके जिले के लोग भी याद रखेंगे। कन्नौज में एसपी हरीश चन्दर ने एक गरीब लड़की की पढ़ाई (education) का खर्चा उठाने का ऐलान किया है। उनके इस कदम से छात्रा के साथ पूरी जनता काफी खुश नजर आ रही है और एसपी साहब की काफी सराहना भी कर रही है।
हुआ कुछ यूँ कि कन्नौज शहर के गोमती देवी गर्ल्स इण्टर कॉलेज में कक्षा 10 की छात्रा मनीषा का नाम फीस न देने पाने की वजह से काट दिया गया था। इसकी वजह से वह इलाहाबाद बोर्ड परीक्षा का फार्म भी नहीं भर पाई थी। मामले की जांच संरक्षण अधिकारी और आपकी सखी आशा ज्योति केंद्र की टीम ने की। जानकारी प्रमुख सचिव महिला एवं बाल विकास रेणुका कुमार के पास भी पहुंची। उन्होंने जिला प्रोबेशन अधिकारी अश्वनी त्रिपाठी को इस मामले में मदद करने के निर्देश दिए थे। बाद में पता चला कि मनीषा की मां मिथलेश को विधवा पेंशन भी नहीं मिल रही है जिस वजह से छात्रा अपनी फीस नहीं भर पाई।

सोमवार को पुलिस अधीक्षक कन्नौज हरीश चन्दर ने शहर के मोहल्ला भगवानपुर निवासी 15 साल की मनीषा शंखवार और उसकी मां मिथलेश को अपने कार्यालय बुलाया। संरक्षण अधिकारी विजय कुमार राठौर, आपकी सखी आशा ज्योति केंद्र में 181 काउंसलर देवांश प्रिया मनीषा को लेकर एसपी कार्यालय पहुंचे। एसपी ने बताया कि पुलिस टीम ने छात्रा की गोपनीय जांच भी कराई है। मनीषा का नाम फीस न दे पाने की वजह से स्कूल से काटा गया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वह आज से यह मेरी बेटी की तरह है और उसका खर्च हम उठाएंगे। उन्होंने मनीषा से कहा कि वह जब चाहे उनसे मिल सकती है।

संरक्षण अधिकारी ने बताया कि डीआईओएस, एसपी और डीपीओ साहब ने मनीषा का बोर्ड परीक्षा फार्म भराने को लेकर पत्र लिखा है। मंगलवार को मनीषा को लेकर सुबह इलाहाबाद निकलना है। एक महिला, पुरुष कांस्टेबल और एक काउंसलर के साथ मनीषा और उसकी मां को इलाहाबाद ले जाएंगे। मां मिथलेश ने बताया कि एसपी साहब ने उनकी बेटी को 5,000 रुपये दिए हैं। उन्होंने उन रुपयों से मनीषा के लिए दो स्वेटर खरीदे हैं। साथ ही स्कूल के लिए जुते, दुपट्टा, बस्ता और मोजे भी खरीदे हैं।


गाज़ियाबाद को स्वच्छ रखने में सहयोग दें। नीचे दिए लिंक पर क्लिक कर स्वच्छता एप डाउनलोड करें और कूड़े के बारे में निगम को जानकारी दें।
https://play.google.com/store/apps/details?id=com.ichangemycity.swachhbharat&hl=en


(व्हाट्स एप के माध्यम से हमारी ख़बरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें
हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।