ताज़ा खबर :
prev next

दिल्ली में पकड़ा गया फर्जी शिक्षा बोर्ड, वेबसाइट के जरिए बेचते थे जाली डिग्री

दिल्ली में पकड़ा गया फर्जी शिक्षा बोर्ड, वेबसाइट के जरिए बेचते थे जाली डिग्री

नई दिल्ली | दिल्ली पुलिस ने शाहदरा में चल रहे फर्जी शिक्षा बोर्ड का भंडाफोड़ कर इसके चेयरमैन समेत छह लोगों को गिरफ्तार किया है। यह फर्जी बोर्ड 2012 से रहा था और इसकी शाखाएँ देश के 17 राज्यों थीं। ‘बोर्ड ऑफ हायर सेकेंडरी एजुकेशन दिल्ली’ के नाम से चलने वाले इस फर्जी बोर्ड का संचालन यूपी के लखनऊ से होता था। दिल्ली के विकासपुरी में भी इसका कार्यालय था। यह बोर्ड पढ़ने में कमजोर या फेल हुए बच्चों को डिग्री व मार्कशीट मुहैया कराता था। गिरफ्तार आरोपियों में शाहदरा का प्रशांत सोलंकी, स्वरूप नगर निवासी राजू, उत्तम नगर निवासी अल्ताफ और लक्ष्य राठौर, जनकपुरी निवासी रामदेव शर्मा व यूपी प्रतापगढ़ निवासी शिव प्रसाद पांडेय शामिल हैं। शिव प्रसाद बोर्ड चेयरमैन था। इस फर्जी बोर्ड की वेबसाइट पर दावा किया गया था कि इसे मानव संसाधन विकास मंत्रलय और राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और शिक्षा परिषद से मान्यता मिली हुई है। और बोर्ड एक स्वायत्त संस्थान है। कई शिक्षा बोर्ड से भी जुड़े होने का दावा था।

हिंदुस्तान टाइम्स में छपी खबर के अनुसार अब तक इस फर्जी बोर्ड से करीब चार लाख से ज्यादा मार्कशीट और सर्टिफिकेट जारी होने की बात सामने आई है। इसके लिए गिरोह ने देश के दूर-दराज इलाकों में करीब तीन सौ एजेंट का जाल बिछा रखा था। ज्वाइंट कमिश्नर रवींद्र यादव के मुताबिक, मार्कशीट और सर्टिफिकेट लेने वाले छात्रों का नेटवर्क भी गिरोह के लिए कमीशन पर काम करता था। जिन छात्रों के माध्यम से कोई भी नई मार्कशीट और सर्टिफिकेट जारी किया जाता था, उन्हें इसके बदले में ली गई राशि का 30 से 40 फीसदी तक कमीशन दिया जाता था। मार्कशीट व डिग्री विदेशों में काम की तलाश में जाने वाले लेते हैं।

(व्हाट्स एप के माध्यम से हमारी ख़बरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें
हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।