ताज़ा खबर :
prev next

सरकारी दस्तावेज़ों में अभी भी आतंकी हैं भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु

सरकारी दस्तावेज़ों में अभी भी आतंकी हैं भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु

नई दिल्ली | भारत सरकार ने अभी तक प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को शहीद का दर्जा नहीं दिया है, एक आरटीआई में इस बात का खुलासा हुआ है। यह आरटीआई इंडियन काउंसिल ऑफ हिस्टोरिकल रिसर्च (ICHR) में दाखिल की गई थी। आरटीआई से यह बात भी सामने आई है कि आईसीएचआर की ओर से इसी साल नवंबर में रिलीज की गई किताब में भगत सिंह और बाकी दो शहीदों को कट्टर युवा और आतंकी करार दिया गया है।
बता दें कि आईसीएचआर मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अंतर्गत आने वाला संगठन है। आईसीएचआर का चेयरमैन भारत सरकार की ओर से नियुक्त किया जाता है। अंग्रेजी वेबसाइट टाइम्स नाउ की रिपोर्ट में यह जानकारी सामने आई है। आरटीआई में यह भी पता चला है कि पिछली सरकारें लगातार इन तीनों क्रांतिकारियों की शहादत को नजरअंदाज करती आई हैं। ये वे शहीद हैं, जिन्होंने कई पीढ़ियों को प्रेरणा दी है। आरटीआई के जरिए जम्मू के एक्टिविस्ट रोहित चौधरी ने पूछा था कि क्या तीनों शहीदों को शहीद का दर्जा दिया गया है?

(व्हाट्स एप के माध्यम से हमारी ख़बरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें
हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।