ताज़ा खबर :
prev next

पेट्रोल के आर और डीजल के एएम सीरीज के वाहन होंगे सीज

पेट्रोल के आर और डीजल के एएम सीरीज के वाहन होंगे सीज

गाज़ियाबाद। पिछले एक सप्ताह से गाजियाबाद प्रदूषण के खतरनाक लेवल से काफी ऊपर चल रहा है। प्रशासन ने सख्ती भरे कदम भी उठाए, लेकिन सुधार कुछ खास नहीं हो रहा है। कारण जानने के लिए पर्यावरणविद् भी जुटे हुए हैं। इसी कड़ी में प्रशासन के नए आदेश के तहत अब जिले में रजिस्टर्ड डीजल के एएम सीरीज और पेट्रोल के आर सीरीज के वाहनों को सड़कों पर चलने से बैन किया गया है लेकिन जुगाड़ वाहन इस अभियान को पलीता लगा रहे हैं।

 शुक्रवार को आरटीओ की तरफ से 10 साल पुराने डीजल वाहन और 15 साल पुराने पेट्रोल के वाहनों की सूची ट्रैफिक पुलिस और जिला प्रशासन के अधिकारियों को सौंपी गई है। डीएम ने इस तरह के वाहनों पर अंकुश लगाने के लिए अपर नगर मजिस्ट्रेट अतुल कुमार को नोडल ऑफिसर नियुक्त किया है। इस सूची को लेकर ट्रैफिक पुलिस दिनभर अलग-अलग चौराहे पर वाहनों को पकड़ने के लिए तैयार थी। लेकिन केवल 2 ही कैंटर को दिनभर में सीज किया जा सका है। आरटीओ की टीम ने भी कार्रवाई की है। इसमें 10 साल से पुराने 14 वाहनों को सीज किया गया है। जबकि 26 ऑटो रिक्शा को प्रदूषण फैलाने के आरोप में सीज किया गया है।

आरटीओ ने पेट्रोल के 15 साल पुराने हो चुके वाहनों की सूची तैयार की है, उसमें यूपी 14- A, B, C, D, E, F, G, H, J, K, L, M, N, P, Q, R वाले रजिस्टर्ड नंबर हैं। जबकि डीजल के 10 साल पुराने वाहनों की सूची में यूपी 14- S, T, U, V, W, X, Y, Z, AA, AB, AC, AD, AE, AF, AH, AJ, AK, AL, AM वाले वाहन हैं, जिन्हें बैन किया गया है। इस सीरीज की गाड़ियां अब गाजियाबाद की सड़कों पर चलती दिखीं तो उन्हें सीज करने का आदेश डीएम ने दिया है।

मोदीनगर, मुरादनगर, डासना, लोनी और शहर के अधिकांश हिस्से में बड़ी संख्या में जुगाड़ वाहन चलते हैं। इन वाहनों ने वही इंजन लगे होते हैं, जिन वाहनों की लाइफ खत्म हो चुकी होती है। ये वाहन जमकर प्रदूषण फैलाते हैं। इन वाहनों का रजिस्ट्रेशन नंबर नहीं होता। प्रदूषण को कम करने के लिए लगातार इतने प्रयास किए जाने के बाद भी ट्रैफिक पुलिस और आरटीओ की टीम इन्हें रोकने में पूरी तरह से असमर्थ दिख रही है। इन वाहनों से आए दिन ऐक्सिडेंट भी खूब होते हैं। गाजियाबाद में जुगाड़ वाहन एक बच्चे की जान भी ले चुका है।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैं आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।