ताज़ा खबर :
prev next

शराब पीने की न्यूनतम उम्र 21 से बढ़कर होगी 23 साल: केरल सरकार का बड़ा फैसला

शराब पीने की न्यूनतम उम्र 21 से बढ़कर होगी 23 साल: केरल सरकार का बड़ा फैसला

गाज़ियाबाद। केरल सरकार ने शराब पीने की उम्र 21 साल से बढ़ाकर 23 साल कर दी है। दरअसल, सितंबर में राज्य सरकार ने शैक्षणिक और धार्मिक स्थलों से 4 सितारा व उससे अधिक रेटिंग वाले होटलों की अनिवार्य दूरी 200 मीटर से घटाकर 50 मीटर कर दी थी जिसके बाद विपक्ष ने शराब के सेवन में बढ़ोतरी पर चिंता जताई थी।

सूत्रों के अनुसार सीपीएम के नेतृत्व वाली सरकार ने इसके लिए अध्यादेश लाने की और आबकारी कानून में जरूरी संशोधन के लिए सारी तैयारियां कर ली हैं। यह फैसला सीएम पिनाराई विजयन की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में लिया गया।

एक आधिकारिक विज्ञप्ति में यह कहा गया कि अध्यादेश जारी करने के लिए राज्यपाल पी. सदाशिवम् को प्रस्ताव भेज दिया गया है। 2016 में हुए विधानसभा चुनावों के दौरान एलडीएफ शराब पीने की न्यूनतम उम्र बढ़ाने का वादा किया था। इस साल जून में केरल सरकार ने अपनी नई शराब नीति के तहत बंद पड़े तीन सितारा और इससे ऊपर की श्रेणी के बार और होटलों को खोलने का फैसला किया था। 1 जुलाई से इन होटलों में ताड़ी देने की भी इजाजत दे दी गई थी।

इससे पहले यूडीएफ सरकार ने 10 सालों में अपनी पूर्ण शराबबंदी करने की नीति के तहत 712 बार को बंद करवा दिया था। इनमें से बंद हुए अधिकतर बार बीयर और वाइन पॉर्लर में तब्दील हो गए थे। इस नई नीति के आलोचना पर सीएम पिनाराई विजयन ने कहा कि एलडीएफ ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में साफ किया था कि वे पूर्ण शराबबंदी की जगह आंशिक प्रतिबंध के पक्ष में है।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।