ताज़ा खबर :
prev next

परम्पराओं को तोड़ कर बेटियों ने दिया कन्धा और मुखाग्नि, पिता कहलाते थे गुटखा किंग

परम्पराओं को तोड़ कर बेटियों ने दिया कन्धा और मुखाग्नि, पिता कहलाते थे गुटखा किंग

नोएडा | समाज की परंपरा को तोड़ते हुए नोएडा की चार बेटियों ने अपने पिता को कंधा दिया और एक बेटी उन्हें मुखाग्नि भी दी। गुटखा किंग के नाम से मशहूर पान सेलर्स वेलफेयर एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष हरिभाई लालवानी (65) ने नोएडा के एक निजी अस्पताल में अंतिम सांसे लीं। हरिभाई लालवानी की शव यात्रा शनिवार सुबह नोएडा के सेक्टर-40 स्थित घर से गाजे-बाजे के साथ निकाली गई जिसमें लालवानी की चारों बेटियों ने उनकी अर्थी को कंधा दिया।

गुरुवार रात लालवानी को ब्रेन स्ट्रोक हुआ था जिसके बाद गंभीर हालत में उन्हें नोएडा के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां शुक्रवार को उन्होंने दम तोड़ दिया। लालवानी की बेटी अनीता लालवानी ने बताया कि उन्होंने मृत्यु से पहले यह इच्छा जताई थी कि जब उनकी मौत हो तो उनकी शव यात्रा किसी उत्सव के समान निकाली जाए। प्रिन्स गुटखा के मालिक रहे लालवानी वर्ष 1990 के दशक में नोएडा आंत्रप्रन्योर एसोसिएशन के अध्यक्ष बने थे।

एसोसिएशन का अध्यक्ष रहते हुए उन्होंने वर्ष 1994 में हुए बहुचर्चित नोएडा आवासीय आवंटन घोटाला को जोर-शोर से उठाया था, जिसमें नोएडा प्राधिकरण की तत्कालीन मुख्य कार्यपालक अधिकारी नीरा यादव एवं आईएस अधिकारी राकेश कुमार को सीबीआई की अदालत ने सजा सुनाई थी। दिल्ली में एक पान की दुकान से अपना कारोबार शुरू करने वाले हरिभाई लालवानी वर्ष 1990 के दशक में गुटखा किंग के नाम से मशहूर हो गए।


गाज़ियाबाद को स्वच्छ रखने में सहयोग दें। नीचे दिए लिंक पर क्लिक कर स्वच्छता एप डाउनलोड करें और कूड़े के बारे में निगम को जानकारी दें।
https://play.google.com/store/apps/details?id=com.ichangemycity.swachhbharat&hl=en


(व्हाट्स एप के माध्यम से हमारी ख़बरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें
हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।