ताज़ा खबर :
prev next

कांस्टेबल का आरोप, कोतवाल ने नहीं दी घर जाने की छुट्टी

कांस्टेबल का आरोप, कोतवाल ने नहीं दी घर जाने की छुट्टी

गाज़ियाबाद। डीजीपी के पुलिस कर्मियों को हर सप्ताह अवकाश देने के आदेशों की पुलिस के ही एक सिपाही ने पोल खोल दी है। वैशाली चौकी पर तैनात एक सिपाही ने कोतवाल और आलाधिकारियों पर ढाई महीने से छुट्टी नहीं देने और प्रताड़ित करने का आरोप लगाकर वीडियो वायरल किया है। उसने ट्वीटर पर यूपी पुलिस के आईजी मेरठ जोन को भी वीडियो भेजा है। एसएसपी ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

मामला वैशाली पुलिस चौकी का है। यहाँ तैनात सिपाही विजय चौधरी ने वीडियो वायरल कर आरोप लगाया है कि आजादी के 70 साल बाद आज भी हम गुलामों की जिंदगी जी रहे हैं। ढाई महीनों से वह बीवी-बच्चों और मां-बाप से नहीं मिला है। एक दिसंबर को उसकी शादी की सालगिरह थी। मतगणना में ड्यूटी होने से वहां भी नहीं जा पाया। उसका आरोप है कि लैपर्ड पर नाइट शिफ्ट चल रही है।

उसे खत्म करने के बाद वह मंगलवार को दिन में छुट्टी लेने के लिए तीन घंटे इंतजार करता रहा। इंदिरापुरम कोतवाल सुशील कुमार दुबे से मिलकर छुट्टी मांगी। उन्होंने कहा कि पांच दिन की नहीं, तीन दिन की छुट्टी दूंगा। उसका आरोप है कि एसएचओ का कहना था कि तुम ढाई महीने से घर नहीं गए तो तुमने तो क्षेत्र में लूट मचा रखी है। सिपाही का यह भी आरोप है कि एसएचओ एसएसआई को भी छुट्टी नहीं देने देते उन्हें भी हिदायत देते हैं कि छुट्टी सिर्फ मैं दूंगा।

वीडियो में सिपाही दावा कर रहा है की बुधवार को फिर 4 घंटे तक इंतजार करने के बाद कोतवाल साहब ने साइन ना करके सीओ के पास जाने के लिए कह दिया। एसएचओ सुशील दुबे का कहना है कि छुट्टी तीन दिन की दी गई थी। साइन 8 दिसंबर को आकर कराने की बात कही तो उसने अभद्रता की और थाने से हटवाने की धमकी दी। इसकी सूचना उन्होंने एसएसपी को दी और रिपोर्ट बनाकर भेज दी है।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।