ताज़ा खबर :
prev next

कपिल सिब्बल हमारे वकील हैं मगर अयोध्या मामले की सुनवाई टालने वाला बयान हमारा नहीं – सुन्नी वक्फ बोर्ड

कपिल सिब्बल हमारे वकील हैं मगर अयोध्या मामले की सुनवाई टालने वाला बयान हमारा नहीं – सुन्नी वक्फ बोर्ड

नई दिल्ली | मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या विवाद पर सुनवाई की गई। इस सुनवाई के दौरान सुन्नी वक्फ बोर्ड की ओर से पेश होते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने कहा कि इस मामले की सुनवाई साल 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद की जाए। सिब्बल का कहना था कि अभी इसके लिए माहौल सही नहीं है।
हालांकि, कोर्ट ने उनकी दलील नहीं मानी मगर कपिल सिब्बल की इस दलील पर सुन्नी वक्फ बोर्ड ने ही उन्हें घेरा है। सुन्नी वक्फ बोर्ड ने कहा कि कपिल सिब्बल की यह मांग गलत है, हम लोग इस विवाद का समाधान जल्द से जल्द चाहते हैं। सुन्नी वक्फ बोर्ड के हाजी महबूब ने कहा, ‘कपिल सिब्बल हमारे वकील हैं, लेकिन वे एक राजनीतिक पार्टी से भी जुड़े हुए हैं। सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार को दिया गया उनका बयान गलत था। हम लोग इस विवाद का समाधान जल्द से जल्द चाहते हैं।’
कपिल सिब्बल के बयान पर भारतीय जनता पार्टी ने निशाना ने भी उन्हें निशाने पर लिया है। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने सिब्बल पर निशाना साधते हुए कहा, ‘एक वकील के नाते कपिल सिब्बल किसी भी मुद्दे पर बहस कर सकते हैं, लेकिन उन्हें यह नहीं भूलना चाहिए कि वह पहले कानून मंत्री भी रह चुके हैं। ‘मामले की सुनवाई साल 2019 के बाद होनी चाहिए’ यह कहने के पीछे उनका क्या मतलब है। यह गलत और गैर जिम्मेदाराना है।’ साथ ही उन्होंने कहा, ‘मैं राहुल गांधी और सोनिया गांधी से पूछना चाहता हूं कि राम जन्मभूमि मामले की जल्द से जल्द सुनवाई पर उनकी पार्टी का क्या कहना है।’

(व्हाट्स एप के माध्यम से हमारी ख़बरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें
हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।