ताज़ा खबर :
prev next

गंदगी से परेशान मरीजों ने अस्पताल से कराई छुट्टी

गंदगी से परेशान मरीजों ने अस्पताल से कराई छुट्टी

गाज़ियाबाद। मंगलवार को भी संयुक्त जिला अस्पताल में सफाई कर्मचारियों की हड़ताल जारी रही। दूसरे दिन भी सफाई न होने के कारण पूरे अस्पताल में बदबू और गंदगी इस कदर बढ़ गई की मरीजों ने मजबूरी में अस्पताल से अपनी छुट्टी करा ली और इलाज के लिए दूसरे अस्पताल चले गए।

दो महीने से वेतन न मिलने से नाराज सफाई कर्मचारी दूसरे दिन हाथों में कटोरा लेकर सीएमएस के पास पहुंचे और भीख मांगकर विरोध प्रदर्शन किया। यही नहीं कर्मचारियों ने पूरे अस्पताल में घूम-घूमकर मरीजों, तीमारदारों और चिकित्सकों से भीख मांगी। इस दौरान उन्होंने सीएमएस के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। कर्मचारियों के शोर से अस्पताल में चारों तरफ अफरातफरी मच गई। वहीं गंभीर मरीज इस प्रदर्शन को रोकने की मांग नर्सों से करते रहे। ऐसे में वहां मौजूद स्टाफ नर्स ने कर्मचारियों को प्रदर्शन बंद करने के लिए कहा। नाराज कर्मचारियों ने नर्स को खदेड़ दिया। कर्मचारियों का गुस्सा देख नर्स अस्पताल में छिप गईं।

सभी कर्मचारियों ने सीएमएस डॉ. दिनेश शर्मा से मुलाकात कर वेतन देने की मांग की। सीएमएस ने उन कर्मचारियों को अपना कर्मचारी मानने से इंकार कर उनकी जगह पर अस्पताल की सफाई का दूसरा विकल्प खोजने का फैसला सुना दिया। कर्मचारियों के शोर से डरे-सहमे मरीजों ने खुद को वॉर्डों में बंद कर लिया। हालांकि नर्स के कहने के बाद मरीज वॉर्ड खोलने के लिए राजी हो गए। वहीं गंभीर मरीजों ने नर्स से प्रदर्शन रोकने की मांग की। इसके बावजूद प्रदर्शन खत्म न होता देख कई मरीजों ने अस्पताल से छुट्टी ले ली।

साफ-सफाई न होने के कारण अस्पताल में चारों ओर कूड़े का अंबार लग गया है। आलम यह है कि ऑपरेशन थिएटर के बाहर खून की गंदी रुई, वॉर्डों में कचरा और गंदी चादरों के कारण पूरे अस्पताल में बदबू फैल गई है। ऐसे में संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ गया है। कर्मचारियों ने कहा कि पिछले दो महीने से वेतन न मिलने के कारण घर चलाना बेहद मुश्किल हो गया है। वो स्कूल के बच्चों की फीस तक नहीं भर पाए हैं। ऐसे में उनके बच्चों को स्कूल प्रबंधन ने स्कूल से निकाल दिया है।

 

 

 

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।