ताज़ा खबर :
prev next

कभी खुद फंस गए थे ट्रैफिक जाम में, अब करते हैं ट्रैफिक मैनेजमेंट में मदद

कभी खुद फंस गए थे ट्रैफिक जाम में, अब करते हैं ट्रैफिक मैनेजमेंट में मदद

गुरुग्राम | गुरुग्राम के रहने वाले और पेशे से वकील धर्मवीर 6 साल पहले एक बार जाम में ऐसा फंसे कि उन्होंने ठान लिया कि वह इसे दूर करने के लिए कुछ ठोस करेंगे। उस दिन से वह रोज 2 घंटे भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों में ट्रैफिक संभालते हैं। इसके अलावा वह ट्रैफिक पुलिस को भी सहयोग देते हैं। वह अपने खर्चे से सड़कों पर गड्ढों को भर रहे हैं।

धर्मवीर ने बताया कि करीब 6 साल पहले वह रात को दिल्ली से आ रहे थे। इफ्को चौक पर भीषण जाम लगा था, वहां कोई पुलिसकर्मी भी नहीं था। परिवार उनका इंतजार कर रहा था। बच्चे बार-बार फोन कर पूछ रहे थे कि कब आएंगे। जाम में होने की वजह से वह कोई ठोस जवाब नहीं दे सकते थे। इसी बीच वह कार से उतरे और ट्रैफिक को चलाना शुरू कर दिया। थोड़ी देर में रास्ता साफ हो गया। उस दौरान काफी लोगों ने उनके प्रयास को सराहा। उसी दिन ठान लिया कि रोज ट्रैफिक पुलिस को सहयोग करूंगा।

धर्मवीर ने बताया, ‘गुड़गांव में सबसे बड़ी समस्या जाम और गड्ढों की है। इन्हें हर कोई देखता है, लेकिन ध्यान नहीं देता। मैं 6 वर्षों से इन दो कार्यों के लिए समर्पित हूं। इसमें मेरा साथ मेरा परिवार भी देता है।’ धर्मवीर जिस रोड में गड्डे खतरनाक होते हैं उसे अपने स्तर पर भरने का काम करते हैं। अपनी सैलरी का एक हिस्सा वह इस काम पर खर्च करते हैं। जैकबुपरा, न्यू रेलवे रोड, ओल्ड रेलवे रोड पर उन्होंने काम किया है। सड़कों की बदहाल स्थिति को लेकर उन्होंने सीएम विंडो पर भी शिकायत दी है। सोशल नेटवर्किंग साइट पर भी वह अधिकारियों को हालात से रूबरू कराते रहते हैं।

(व्हाट्स एप के माध्यम से हमारी ख़बरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें
हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।