ताज़ा खबर :
prev next

स्मॉग के कारण कई ट्रेनों की रफ़्तार पड़ी धीमी, यात्री परेशान

स्मॉग के कारण कई ट्रेनों की रफ़्तार पड़ी धीमी, यात्री परेशान

गाज़ियाबाद। स्मॉग ने ट्रेनों की रफ्तार पर भी ब्रेक लगा दिए हैं जिसके कारण कई ट्रेनें निर्धारित समय से दो से 18 घंटे तक की देरी से गाजियाबाद पहुंचीं। सुबह 10:48 बजे गाजियाबाद पहुंचने वाली भुज एक्सप्रेस 2 घंटे से अधिक की देरी से दोपहर 1:05 बजे आई। इसी तरह अवध असम एक्सप्रेस सुबह 8:40 बजे के बजाय दोपहर 1:10 बजे पहुंची।

देहरादून जनशताब्दी भी अपने निर्धारित समय से 2 घंटे लेट रही। रीवा एक्सप्रेस 13 घंटे 37 मिनट की देरी से चल रही है। कोहरे और स्मॉग के चलते सुबह मेरठ, बुलंदशहर और दिल्ली जाने वाली ईएमयू भी आधे से लेकर एक घंटे तक की देरी से चलीं। सड़कों पर भी कुछ ऐसा ही हाल है। गाजियाबाद के पुराना रोडवेज बस अड्डा से चलने वाली बसें अपने निर्धारित समय से एक से डेढ़ घंटे देरी से चलीं।

कोहरे और स्मॉग के चलते किसी हादसे को टालने के लिए रेलवे ने पटाखों का प्रबंध कर लिया है। सभी गेटमैन को पटाखे पहुंचाए जा रहे हैं, ताकि दृश्यता कम होने पर वे इनका इस्तेमाल कर चालक को सिग्नल दे सकें। रेलवे की ओर से कोहरे के दौरान प्रयोग किए जाने वाले पटाखे लोहे के पाइपनुमा खोल होते हैं।

इन्हें किसी सिग्नल से पहले, स्टेशन से पहले आउटर पर या किसी हादसे वाले स्थान से 100 से 500 मीटर पहले पटरी पर रख दिया जाता है। जब इंजन इन पटाखों के ऊपर से गुजरता है, तो दबाव के कारण ये फट जाते हैं। इससे चालक को खतरे का आभास हो जाता है और वह ट्रेन रोक देता है।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।