ताज़ा खबर :
prev next

हवा की गति बढ़ने से प्रदूषण में आई कमी, पर सावधान रहने की जरुरत

हवा की गति बढ़ने से प्रदूषण में आई कमी, पर सावधान रहने की जरुरत

गाज़ियाबाद। एनसीआर के लोगों को प्रदूषण के कहर से निजात मिलती दिखाई नहीं दे रही है। बृहस्पतिवार को भी प्रदूषण का स्तर खतरनाक स्थिति में रहा। हवा की गति बढ़ने से प्रदूषण बुधवार की तुलना में तो कुछ कम हुआ मगर अब भी मानकों से तीन गुना अधिक रहा। डॉक्टरों ने सांस रोगियों को एहतियात बरतने की सलाह दी है।

बुधवार को हवा की गति 0.68 मीटर प्रति सेकेंड थी जो बृहस्पतिवार को बढ़कर 1.50 मीटर प्रति सेकेंड हो गई। हवा में तेजी आने के बाद प्रदूषण में कुछ कमी आई। सुबह 10 बुधवार के 707 से घटकर 650 पर पहुंच गया। वहीं दोपहर 2.5 बुधवार के 387 मिलीग्राम प्रतिघनमीटर से घटकर 350 रहा। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की वैज्ञानिक सपना श्रीवास्तव के अनुसार हवा में तेजी आने पर या बरसात होने पर ही लोगों को प्रदूषण से कुछ राहत मिल सकेगी। वाहनों का धुआं और फैक्ट्रियों से निकलने वाला केमिकल प्रदूषण के मुख्य कारण हैं।

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के अनुसार सुबह नौ बजे से दोपहर दो बजे तक प्रदूषण का स्तर अधिक रहता है। सुबह सड़कों पर वाहनों की अधिकता के चलते वायु को प्रदूषित करने वाले कण बढ़ जाते हैं। वहीं, शाम को सात बजे से आठ बजे के बीच सड़कों पर वाहन बढ़ने से प्रदूषण बढ़ जाता है।

 

 

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।