ताज़ा खबर :
prev next

ईमानदारी की मिसाल बनी कूड़ा बीनने वाली गंगू बाई, लौटाए कूड़े के ढेर में मिले ₹5 लाख के गहने

ईमानदारी की मिसाल बनी कूड़ा बीनने वाली गंगू बाई, लौटाए कूड़े के ढेर में मिले ₹5 लाख के गहने

नासिक | महाराष्ट्र के नासिक में एक कचरा बीनने वाली महिला ने एक ऐसा काम कर दिखाया कि उसे 10 हजार रूपए इनाम में मिले। दरअसल, रोज कि तरह अपनी बेटियों के साथ कूड़ा बीनने निकली गंगुबाई को कचरे के ढेर में एक थैली मिली जिसमें सोने चांदी के गहने भरे थे। गंगुबाई उस थैली को अपने घर में ले आई और थैली के मालिक के बारे में पता करना शुरू कर दिया।
उधर नासिक के ही पाथर्डी फाटा इलाके में रहने वाली महिला सरिता दलवी अपने पति शरद दलवी के साथ थाने पहुंची। उन्होंने पुलिस को बताया कि दिवाली की सफाई के दौरान उन्होंने सोने-चांदी से भरी थैली गलती से कचरे के ढेर में फेंक दी। इसके बाद पुलिस ने आस-पास के कचरे वालों से पूछताछ की तो उन्हें कोई जानकारी नहीं मिली। इस बीच जेवरात गुमने की खबर जब गंगूबाई को लगी तो उन्होंने पुलिस को संपर्क कर थैली की जानकारी दी।
जब दलवी दंपति ने थाने आकर देखा तो वह जेवरात उनके ही थे, जिन्हें उन्होंने गलती से कचरे में फेंक दिया। गंगूबाई की ईमानदारी से खुश होकर दलवी दंपति ने गंगूबाई को 10 हजार रूपए देकर सम्मानित किया। बता दें कि गंगूबाई असरूबा घोडे अपनी बेटी मुक्ता और सुनीता के साथ अंबाड के साठनेगर की झुग्गियों में रहती है। तीनों कचरा बीनने का काम करती है।


आप भी नीचे दिए गए लिंक से स्वच्छता एप डाउनलोड कर शहर को साफ रखने में अपना सहयोग दे सकते हैं।
https://play.google.com/store/apps/details?id=com.ichangemycity.swachhbharat&hl=en


(व्हाट्स एप के माध्यम से हमारी ख़बरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें
हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।