ताज़ा खबर :
prev next

फर्जी एनकाउंटर उत्तर प्रदेश है नंबर वन, आरटीआई से मिली जानकारी से हुआ खुलासा

फर्जी एनकाउंटर उत्तर प्रदेश है नंबर वन, आरटीआई से मिली जानकारी से हुआ खुलासा

गाज़ियाबाद | फर्जी एनकाउंटर के मामलों में उत्तर प्रदेश पुलिस देश में सबसे आगे हैं। इसका खुलासा राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग द्वारा दिए गए एक आरटीआई के जवाब से हुआ है। आयोग द्वारा दिए गए आंकड़ों पर गौर करें तो पिछले 12 साल में यूपी पुलिस पर सबसे ज्यादा फर्जी एनकाउंटर के आरोप लगे और सबसे ज्यादा पुलिस कस्टडी में हुई मौतों के मामले भी उत्तर प्रदेश पुलिस के ही नाम रहे।

मेरठ के एक आरटीआई कार्यकर्ता लोकेश खुराना ने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग से पूरे देश के सभी राज्यों की पुलिस पर लगे फर्जी एनकाउंटर के आरोप, पुलिस अभिरक्षा में मौत और थर्ड डिग्री देने को लेकर सूचना मांगी थी। एक जनवरी 2005 से लेकर अक्तूबर 2017 तक का पूरा रिकार्ड मांगा गया था। पूरे देश में पिछले 12 साल में कुल मिलाकर 1241 फर्जी एनकाउंटर की शिकायतें राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग पहुंचीं। इनमें से अकेले 455 मामले यूपी पुलिस के खिलाफ थे। फर्जी एनकाउंटर की शिकायतों में यूपी पुलिस, दिल्ली और बिहार से कहीं आगे है। इतना ही नहीं मानवाधिकार उल्लंघन के मामलों में भी यूपी पुलिस सबसे आगे है। यूपी पुलिस के खिलाफ पिछले 12 साल में 2.62 लाख शिकायतें मिली हैं। ये आंकड़ा पूरे देश में सबसे ज्यादा है। दिल्ली में ये आंकड़ा 27,663 है, जबकि बिहार में 15,642 है। इसके अलावा हरियाणा में भी 23 हजार, राजस्थान में 11 हजार और उत्तराखंड में सात हजार सात सौ का आंकड़ा है।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।

By हमारा गाज़ियाबाद ब्यूरो : Monday 26 फ़रवरी, 2018 04:49 AM