ताज़ा खबर :
prev next

वैशाली और इंदिरापुरम में लगेंगे ध्वनि प्रदूषण साइलेंसर

वैशाली और इंदिरापुरम में लगेंगे ध्वनि प्रदूषण साइलेंसर

गाज़ियाबाद। ट्रांस हिंडन में सड़क किनारे बनी सोसाइटियों में ध्वनि प्रदूषण साइलेंसर लगाए जाएंगे। करीब 20 सोसाइटी में यह साइलेंसर लगाए जाएंगे। रोजवेज और प्रदूषण विभाग को साइलेंसर लगाने के लिए राष्ट्रीय हरित अधिकरण ने आदेश दिए हैं।

वैशाली और इंदिरापुरम में सड़क किनारे बनीं सोसाइटी में ध्वनि प्रदूषण के कारण हो रहीं लोगों की दिक्कतें जल्द ही खत्म हो जाएंगी। इन सोसाइटी में अप्रैल तक रोडवेज और उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा ध्वनि प्रदूषण साइलेंसर लगाए जाएंगे।

आरडब्ल्यूए फेडरेशन ऑफ वसुंधरा जोन के अध्यक्ष डॉ. दिनेश ने बताया कि बढ़ते ध्वनि प्रदूषण को देखते हुए उन्होंने 24 फरवरी को एनजीटी में याचिका डाली थी। उन्होंने जल्द से जल्द इस संबंध में सुनवाई कर लोगों को राहत पहुंचाने की अपील की थी।

एनजीटी ने सुनवाई करते हुए प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और उत्तर प्रदेश परिवहन निगम को समस्या का समाधान करने के आदेश दिए थे, लेकिन दो महीने में विभागों द्वारा इस संबंध में कोई समाधान नहीं किया गया। इसके बाद छह अक्तूबर को फिर से एनजीटी में सुनवाई हुई, जिसमें संबंधित विभागों को अप्रैल तक सड़कों के किनारे बनी सोसाइटी में कौशांबी की तर्ज पर ध्वनि प्रदूषण साइलेंसर लगाने की मांग की गई थी।

एनजीटी के आदेश बाद साइलेंसर लगाने के लिए सोसाइटी के मैप तैयार किए जा रहे हैं। साथ ही किन सोसाइटी में साइलेंसर लगने है और किन में नहीं, इसका विभागों को ब्लू प्रिंट अगली सुनवाई के दौरान यानि 27 नवंबर को कोर्ट के समक्ष पेश करना होगा।

आदित्य मेगा सिटी, गौर वलेरिया सोसाइटी, दिव्यांश प्रथम, एपैक्स ग्रीन वैली, ऑरेंज काउंटी, शिप्रा सन सिटी, एक्सजोस्टिका, मेट्रो स्वीट्स सोसाइटी, जनसत्ता वसुंधरा सेक्टर 3बी, वैशाली पैराडाइज, वैशाली डिजायनर सोसाइटी के लोग ध्वनि प्रदूषण की समस्याओं से जूझ रहे हैं।

ध्वनि प्रदूषण साइलेंसर लगने से ट्रांस हिंडन के करीब दो लाख लोगों को फायदा मिलेगा। सोसाइटी के लोगों का कहना है कि देर रात तक गाड़ियों की चहल-पहल और गाड़ियों के तेज हॉर्न के कारण तनाव के शिकार हो रहे हैं।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।