ताज़ा खबर :
prev next

धार्मिक स्थलों पर बजते लाउडस्पीकरों पर योगी सरकार घिरी हाईकोर्ट में

धार्मिक स्थलों पर बजते लाउडस्पीकरों पर योगी सरकार घिरी हाईकोर्ट में

लखनऊ | मंदिरों और मस्जिदों में देर रात तक बजने वाले लाउडस्पीकरों को लेकर दायर एक जनहित याचिका पर इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने उत्तर प्रदेश के गृह सचिव, मुख्य सचिव और एनजीटी के प्रमुख को तलब किया है। अदालत ने इन सभी से पुछा कि वे लाउडस्पीकर के प्रयोग पर बने नियमों के अनुपालन में क्यों विफल रहे हैं। इस मामले के अगली सुनवाई 31 अक्तूबर को होगी। यह जनहित याचिका मोतीलाल यादव द्वारा दायर की गई है। अदालत ने कहा कि ध्वनि प्रदूषण (विनियमन और नियंत्रण) नियम, 2000 के मुताबिक रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लाउडस्पीकर बजाने की इजाजत नहीं है। फिर यूपी सरकार इसका पालन क्यों नहीं कर रही है।

क्या कहते हैं नियम –

रात 10 बजे के बाद और सुबह 6 बजे से पहले लाउडस्पीकर का इस्तेमाल नहीं होना चाहिए। सभी लाउडस्पीकरों में साउंड लिमिटर लगा होना चाहिए। अस्पताल, नर्सिंग होम, शिक्षण संस्थान और कोर्ट परिसर के 100 मीटर के दायरे में किसी भी वक्त लाउडस्पीकर का प्रयोग नहीं होना चाहिए।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।

By हमारा गाज़ियाबाद ब्यूरो : Friday 27 अप्रैल, 2018 13:57 PM