ताज़ा खबर :
prev next

आरोपियों के खिलाफ शिकायत करने पर पीड़ित को ही भेज दिया जेल

आरोपियों के खिलाफ शिकायत करने पर पीड़ित को ही भेज दिया जेल

गाज़ियाबाद। मुरादनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत इंद्रापुरी कॉलोनी में जुआ खेलने से मना करने पर आक्रोशित जुआरियों ने एक किसान के साथ जमकर मारपीट की। इतना ही नहीं हमलावरों ने तमंचा दिखाकर जान से मारने की धमकी देते हुए पीड़ित किसान से हज़ारों रुपए भी लूट लिए। पीड़ित ने जब थाने जाकर पुलिस को आपबीती बताते हुए आरोपियों के खिलाफ तहरीर दी तो पुलिस ने पीड़ित को डपट कर थाने से भगा दिया। पुलिस के इस व्यवहार से आहत पीड़ित ने 100 नंबर पर कॉल कर कंट्रोल रूम को मामले की जानकारी दी तो पुलिस एक आरोपी के साथ ही पीड़ित को भी पकड़ कर थाने ले आई और आरोपी के संग पीड़ित को भी जेल भेज दिया।

बता दें कि बुधवार दोपहर समय करीब 2 बजे आसिफ पुत्र महराज निवासी मोहल्ला व्यापारियान अपने खेत में पानी देने इंद्रापुरी स्थित अपने खेत पर गया था। जहां उसे अपने खेत में कुछ जुआरी जुआ खेलते नजर आए। आसिफ ने जुआ खेल रहे जुआरियों को वहां जुआ खेलने से मना किया तो आक्रोशित जुआरियों आबिद, शहजाद, साजिद पुत्र सरताज निवासी इंद्रापुरी कॉलोनी ने आसिफ के साथ जमकर मारपीट करनी शुरू कर दी।

आसिफ द्वारा मारपीट का विरोध करने पर हमलावरों नें आसिफ पर तमंचा तानते हुए जान से मारने की धमकी दी और आसिफ़ की जेब में रखी करीब एक हजार सात सो रुपए की नकदी लूट कर फरार हो गए। मारपीट से घायल आसिफ रिपोर्ट लिखाने पुलिस चौकी गया परंतु उसे वहां कोई पुलिसकर्मी नहीं मिला। जिसके बाद थाने पहुंच कर आसिफ़ ने अपने साथ हुई घटना के संबंध में बताते हुए ड्यूटी ऑफिसर उपनिरीक्षक महेश चंद त्यागी को आरोपियों के खिलाफ़ एक तहरीर दी।

पीड़ित के अनुसार महेश चंद त्यागी ने कोई कार्यवाही करने की बजाए तहरीर को झूठा बताकर पीड़ित आसिफ को वहां से भगा दिया। पुलिस के इस व्यवहार से आहत पीड़ित आसिफ ने अपने साथ हुई घटना की जानकारी 100 नंबर कंट्रोल रुम को दी। कंट्रोल रूम पुलिस ने तत्काल आसिफ से संपर्क साधा तथा उपरोक्त कि तहरीर के आधार पर पुलिस ने तीनो आरोपियो मे से एक आरोपी शहजाद को हिरासत में ले लिया। साथ ही पुलिस ने आसिफ को भी हिरासत मे ले लिया और पुलिस ने आरोपी के साथ पीड़ित आसिफ को भी जेल भेज दिया। सूत्रों के अनुसार थाना प्रभारी रणवीर सिंह यादव का कहना है कि पीड़ित ने 100 नंबर पर लूट की झूठी सूचना दी है तथा झूठी सूचना देने के कारण ही आसिफ़ को जेल भेज दिया गया है।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।