ताज़ा खबर :
prev next

सेप्टिक टैंक का मलबा हिंडन के किनारे डालने वालों पर निगम ठोंकेगा जुर्माना

सेप्टिक टैंक का मलबा हिंडन के किनारे डालने वालों पर निगम ठोंकेगा जुर्माना

गाजियाबाद। सक्शन मशीनों से सेप्टिक टैंक साफ कर हिंडन के किनारे, नाले, नालियों और सार्वजनिक स्थानों पर मलबा खाली करने वाले पर नगर निगम की नजरें टेढ़ी हो गई हैं। जलकल विभाग ने सक्शन मशीन संचालकों को चेतावनी जारी कर दी है। इसके अनुसार, अब अगर वे मशीन से मलबा इन जगहों पर खाली करते पाए गए तो कार्रवाई होगी। जुर्माना भी लगाया जा सकता है। पर्यावरण और लोगों की सेहत से खिलवाड़ होता देख विभाग ने इनसे सख्ती से निपटने के बारे में सोचा है।

निगम के नियमों के मुताबिक, सक्शन मशीन संचालकों को जलकल विभाग में पंजीकरण कराना होगा। इसके लिए प्रति मशीन दो हजार रुपये पंजीकरण शुल्क रखा गया है। इस संबंध में आदेश जारी कर दिया गया है। जो संचालक इस आदेश पर अमल नहीं करेगा। उसकी मशीन को जब्त तक किया जा सकता है। पंजीकरण नगर निगम मुख्यालय और जोनल कार्यालयों में होगा।

निगम ने सेप्टिक टैंक से निकला मलबा सीवेज पंपिंग स्टेशन (एसपीएस) और सीवर ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) में खाली करना अनिवार्य कर दिया गया है। जिससे बाद में उसे उपचारित कर आगे बहाया जा सके। इससे पर्यावरण शुद्ध रहेगा और लोगों की सेहत भी दुरुस्त रहेगी।

निगम के जलकल विभाग के अधिशासी अभियंता आनंद त्रिपाठी के मुताबिक, सक्शन मशीन से सेप्टिक टैंक की सफाई करने के बाद मलबा सार्वजनिक स्थानों पर डाल वातावरण प्रदूषित किया जाता है। कुछ मशीन संचालक नदी किनारे, नाले और नालियों में मलबा खाली कर देते हैं जो गलत हैं। अब इसे रोकने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। संचालकों को अब सक्शन मशीन का पंजीकरण कराना अनिवार्य है। वे मलबा एसपीएस या एसटीपी मे ही खाली करेंगे। कहीं दूसरी जगह किया तो कार्रवाई होगी।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।