ताज़ा खबर :
prev next

पटाखे बेंचने के लिए दी गई गाइडलाइन नहीं मानने पर रद्द माने जायेंगे दुकानों के लाइसेंस- डीएम रितु माहेश्वरी

पटाखे बेंचने के लिए दी गई गाइडलाइन नहीं मानने पर रद्द माने जायेंगे दुकानों के लाइसेंस- डीएम रितु माहेश्वरी

गाज़ियाबाद। दीवाली के मद्देनजर होने वाली आतिशबाजी और पटाखों की बिक्री को लेकर डीएम गाज़ियाबाद ने गाइडलाइन जारी कर दी है। डीएम ने सभी नगर मजिस्ट्रेट, उप जिला मजिस्ट्रेट, संबंधित अग्निशमन अधिकारियों व क्षेत्राधिकारी को संयुक्त रूप से निरीक्षण करने के आदेश दिए हैं।

गाइड लाइन के अनुसार, आतिशबाजी को बेंचने व इकठ्ठा करने पर लगी रोक हटा दी गई है। साथ ही जिले के सभी आतिशबाजी लाइसेन्सों को निलंबित किए जाने का आदेश वापस लिया जा रहा है। और सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया जाता है कि वह सुप्रीम कोर्ट के आदेश का कड़ाई से पालन करवायें। साथ ही यह भी कहा गया है कि अगर निम्न शर्तों का पालन नहीं किया जायेगा तो लाइसेंस स्वतः निरस्त माना जाएगा।

गाइडलाइन्स

  1. ध्वनि प्रदूषण नियम 2000 के अनुसार घोषित साइलेंस जोन(अस्पताल, नर्सिंग होम, प्राथमिक व जिला हेल्थ केयर सेंटर, शैक्षणिक संस्थान, न्यायालय, धार्मिक स्थल व अन्य घोषित क्षेत्र) के 100 मीटर के अन्दर पटाखे न फोड़े जाएँ।
  2. पटाखा विक्रय स्थल पर कोई ज्वलनशील पदार्थ न रखा जाए।
  3. विक्रय स्थल से 50 मीटर की दूरी के अंदर किसी भी तरह की आतिशबाजी का प्रदर्शन नहीं होना चाहिए। साथ ही रात को 10 बजे के बाद पटाखों की किसी भी तरह की बिक्री नहीं होगी।
  4. पटाखा विक्रय स्थल पर दो बोरा बालू, पानी से भरे 100 लीटर के दो ड्रम, पानी की दो बाल्टी व बालू की दो बाल्टी रखे होने चाहिए।
  5. क्लोरेट युक्त पटाखों (रंगीन, तारा बत्तियां एवं रोल, डॉट कैप्स) को दुकान में न रखें एवं बेंची न जाये।
  6. 16 वर्ष से कम बच्चों को आतिशबाजी न बेंचे।
  7. दुकान के अन्दर आतिशबाजी अथवा ग्राहकों की भीड़ एकत्रित न होने दें। ताकि आतिशबाजी आइटम्स के रख-रखाव के लिए पर्याप्त जगह मौजूद रहे।
  8. आतिशबाजी व सजावट के सामानों से रास्ते को अतिक्रमित न किया जाय।
  9. आतिशबाजी के लिए केवल उनकी पटाखों की बिक्री की जायेगी जो PESO (पेट्रोलियम एंड एक्सप्लोसिव सेफ्टी ऑर्गनाइजेशन) द्वारा निर्धारित मानक के अनुरूप एल्युमिनियम, सल्फ़र, पोटेशियम व वेरियम का प्रयोग कर बनाये गए हों।
  10. इस दौरान उन पटाखों की बिक्री अवैध मानी जाएगी जिनमे एंटीमनी, लीथियम, मर्करी, आर्सेनिक, लेड व स्ट्रासियम कोमेट का प्रयोग हुआ हो।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।