ताज़ा खबर :
prev next

समय मिलते ही मरीजों के इलाज में जुट जाते हैं चम्पावत के डीएम डॉ. इकबाल

समय मिलते ही मरीजों के इलाज में जुट जाते हैं चम्पावत के डीएम डॉ. इकबाल

गाज़ियाबाद | अकसर जब भी कोई डॉक्टर या इंजीनियर आईएएस बनता है तो उस पर आरोप लगाया जाता है कि जब आईएएस ही बनना था तो प्रोफेशन डिग्री लेकर देश का पैसा क्यों बरबाद किया। इन सब के बीच लोग यह भूल जाते हैं कि एक प्रोफेशनल अधिकारी, साधारण ग्रेजुएट से कहीं बेहतर सेवाएं दे सकता है।

ऐसे ही एक आईएएस अधिकारी हैं डॉ. अहमद इकबाल जो वर्तमान में उत्तराखंड के चम्पावत जिले में बतौर डीएम तैनात है। डॉ. इक़बाल जिलाधिकारी के रूप में अपनी ड्यूटी निभाने के बाद समय मिलते ही हर रोज मरीजों के निशुल्क इलाज में जुट जाते हैं। यही नहीं, जरूरत पड़ने पर मरीजों के लिए दवाइयों और फलाहार आदि के पैसे जुटाने में भी वे पीछे नहीं हटते हैं।

डॉ. इक़बाल 2010 बैच के आईएएस अधिकारी हैं और प्रशासनिक सेवाओं में सलेक्शन से पहले उन्होंने 2009 में मेंगलोर, कर्णाटक के कस्तूरबा गाँधी मेडिकल कॉलेज से MBBS की डिग्री हासिल की है। उन्हें पिछले महीने की 15 तारीख को ही उत्तराखंड मेडिकल काउंसिल की तरफ से मरीजों का इलाज करने की अनुमति मिली है। उसके बाद से वे लगातार हर सुबह और देर रात को मरीजों की सेवा कर रहे हैं। यही नहीं, वे रात के समय जिला अस्पताल में जाकर वहां भर्ती मरीजों का हालचाल पूछना भी नहीं भूलते।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।

By वंशिका शर्मा : Wednesday 22 नवंबर, 2017 14:23 PM