ताज़ा खबर :
prev next

आधा सच दिखा रहे हैं बिल्डर, रेरा वेबसाइट पर नहीं है जानकारी अपडेट

आधा सच दिखा रहे हैं बिल्डर, रेरा वेबसाइट पर नहीं है जानकारी अपडेट

गाज़ियाबाद | खरीदारों को बिल्डरों के चंगुल से मुक्ति दिलाने के लिए सरकार ने रियल एस्टेट रेगुलेटर अथॉरिटी (RERA) कानून बनाया और एक अथॉरिटी का गठन किया। नए नियमों के तहत सभी बिल्डरों को रेरा की वेबसाइट पर अपने सभी प्रोजेक्ट्स की अपडेटेड जानकारी देनी चाहिए। मगर गाज़ियाबाद के अधिकांश बिल्डर ऐसा नहीं कर रहे हैं। वेबसाइट पर बिल्डरों और प्रोजेक्ट्स के बारे में जानकारी या तो आधी अधूरी है या बहुत पुरानी।

जिन प्रॉजेक्ट्स को लांच करते समय उनके कंपलीट होने की डेट साल 2014 लिखी गई थी, अब रेरा की वेबसाइट पर उसी प्रोजेक्ट की कंपलीशन डेट 2018 दिखा रहा है, जबकि प्रॉजेक्ट 4 साल लेट हो चुका है। बायर्स इस बारे में अथॉरिटी में शिकायत कर रहे हैं और उनसे बिल्डर से प्रॉजेक्ट जल्द कंपलीट कराने की मांग कर रहे हैं, जबकि बिल्डर्स की ओर से रेरा की साइट पर ही प्रॉजेक्ट की गलत डिटेल दी जा रही है जिससे आम बायर्स को ये लग रहा है कि अभी तो प्रॉजेक्ट कंपलीट होने में ही समय हैं।

इंदिरापुरम, वसुंधरा, वैशाली, मोहन नगर, जीटी रोड पर कई ग्रुप हाउसिंग सोसायटियां बन रही हैं, इनमें से कुछ बिल्डर तो आनन-फानन में बिना अथॉरिटियों से कंपलीशन और एनओसी लिए हुए ही पजेशन दे दे रहे हैं। न तो फायर डिपार्टमेंट से एनओसी ली जा रही है न ही अथॉरिटी से प्रॉजेक्ट कंपलीट होने का सर्टिफिकेट। दरअसल इन दिनों बिल्डर उन बायर्स को फ्लैट का पजेशन दे रहे हैं जो बैंक की किश्त और किराया दोनों वहन नहीं कर सकते हैं।

बिल्डर्स की ओर से ऐेसे बायर्स को पजेशन लेटर जारी करके उनसे फ्लैट का पजेशन लेने के लिए कहा जा रहा है। कई बिल्डर्स ने तो रेरा लागू होने के बाद दूसरी तरह का खेल करते हुए रेजिडेंट्स को फ्लैट में पहुंचा दिया जिससे अब ऐसे फ्लैट्स के खिलाफ कार्रवाई न हो सके। फेडरेशन ऑफ एओए के अध्यक्ष आलोक कुमार ने बताया कि रेरा का जो कानून मुंबई में है, वहां पर इसका अच्छा काम हो रहा है मगर एनसीआर में अभी कोई कानून नहीं है। रेरा कानून के तहत हर बायर्स को बिल्डर के बारे में सारी जानकारी होनी चाहिए। इस लिहाज से साइट पर ठीक जानकारी अपडेट की जानी चाहिए मगर यहां ऐसा नहीं हो सहा है, जिस कारण बायर्स को अपने बिल्डर के बारे में भी ठीक जानकारी नहीं मिल पा रही है। फेडरेशन ऑफ एओए के अध्यक्ष आलोक कुमार का कहना है कि कई बिल्डर रेरा की वेबसाइट का मजाक उड़ा रहे हैं, वे यहां सही जानकारी भी नहीं डाल रहे हैं।

(साभार- नभाटा)

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।