ताज़ा खबर :
prev next

ग्रामीण क्षेत्रों में भी की जाए 16 घंटे की निर्बाध बिजली आपूर्ति- डीएम रितु माहेश्वरी

ग्रामीण क्षेत्रों में भी की जाए 16 घंटे की निर्बाध बिजली आपूर्ति- डीएम रितु माहेश्वरी

गाजियाबाद। बिजली कटौती व बिलों में गड़बड़ी की लगातार आ रही शिकायतों का संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी रितु महेश्वरी ने बिजली विभाग के ज़िम्मेदारों के साथ समीक्षा बैठक की।

बैठक में डीएम ने कहा, शासन की मंशा है कि, ग्रामीण क्षेत्र में भी 16 घंटे की निर्बाध बिजली आपूर्ति की जाए। इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नही की जायेगी। उन्होने बिजली विभाग के मुख्य अधिशासी अभियन्ता व अवर अभियन्ता को सख्त निर्देश दिये कि, ग्रामीण/शहरी क्षेत्र में 31 दिसम्बर 2017 तक सभी बकायेदारों से बिल की वसूली कर ली जाए। जिससे सरकार की राजस्व में वृद्वि की जा सकेगी।

उन्होने मुख्य अधिशासी अभियन्ता से ग्रामीण/शहरी क्षेत्रों में निर्बाध आपूर्ति के लिए बिजली विभाग से अपनी कार्य योजना बनाकर 3 अक्टूबर 2017 तक प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। कार्य योजना में ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में जर्जर विद्युत् तार, व पोल बदलने के स्थानों का विस्तृत उल्लेख किया जाना है। साथ ही खराब विजली मीटरों को बदलने का कार्य सुनिश्चित किया जाना है।

डीएम ने बिजली चोरी रोकने के लिये चल रहे अभियान में तेजी लाने के निर्देश दिये। ताकि जिन उपभोक्ताओं द्वारा कटिया डालकर और मीटर से छेड़छाड़ कर बिजली चोरी की जा रही है उसके लिये पुलिस बल का सहयोग लेकर प्रशासन स्तर से कार्यवाही की जाये। उन्होने कहा कि अपनी कार्य योजना में सभी योजनाये सम्मिलित कर उनका पालन करे और करायें। साथ ही बिजली बिल और ऊर्जा मित्र का सन्देश उपभोक्ताओ के मोबाइल फोन पर एसएमएस द्वारा भेजना सुनिश्चित करे।

इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी रमेश रजंन, अपर जिलाधिकारी(वित्त एवं राजस्व) राजेश कुमार, अपर जिलाधिकारी(नगर) प्रीति जायसवाल सहित बिजली विभाग के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।