ताज़ा खबर :
prev next

कैसे सुधरेगी पार्कों की हालत, जब स्थानीय लोग ही कर रहे उसका नाश

कैसे सुधरेगी पार्कों की हालत, जब स्थानीय लोग ही कर रहे उसका नाश

गाज़ियाबाद। एक तरफ जहाँ हम पर्यावरण को बचाने के लिए स्वच्छता अभियान चलाते हैं। हमारी सरकार करोड़ों रूपये खर्च कर नागरिकों के लिए पार्कों का निर्माण करवाती है। उसको मेंटेन रखने के लिए प्रतिवर्ष करोड़ो रूपये का बजट रखती है। वहीँ कुछ ओर पार्कों को शहर के ही कुछ नागरिक गंदा करने पर लग जाते हैं। उनमें शादी-विवाह, जन्मदिन पार्टी मनाते हैं और जमकर पर्यावरण का दोहन करते हैं।

ऐसा ही एक मामला विजयनगर के प्रताप विहार का आया है। प्रताप विहार के रविन्द्र कुमार ने नगरायुक्त को एक पत्र लिखा है। पत्र में इन्होने बताया है कि, प्रताप विहार में जी-ब्लॉक एचजीआई गेट-10 के समन नगर निगम द्वारा लाखों रूपये खर्च कर पार्क का सौन्दर्यीकरण करवाया गया। इसमें झूले, लाइट्स, पेड़-पौधे लगवाए और पानी की व्यवस्था की।

पत्र में बताया गया है कि, 9 सितंबर को पार्क में स्थानीय निवासी धर्म कान्त झा व पवन झा ने उद्यान सुपरवाईजर की मिलीभगत से जन्मदिन की पार्टी का आयोजन किया। इसके लिए नगर निगम से अनुमति भी नहीं ली गई। जन्मदिन की पार्टी में पार्क की हरियाली को पूरी तरह से तहस-नहस किया गया। पूरे पार्क में प्लास्टिक के गिलास व पन्नियाँ पड़ी हुई थी। जन्मदिन की पार्टी के बाद पार्क में छोटे-छोटे कई पेड़ टूटे पाए गए।

पत्र में नगरायुक्त से कहा गया है कि, इन लोगों के खिलाफ कानूनी कार्यवाई की जाए। जिससे कि भविष्य में कोई इस तरह से सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुँचाने की हिम्मत न कर सके। पत्र की कॉपी प्रदेश के मुख्यमंत्री, एनजीटी के चेयरमैन, मेरठ मंडलायुक्त व जिलाधिकारी गाज़ियाबाद को भी भेजा गया।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।