ताज़ा खबर :
prev next

समाज के पात्र व्यक्ति तक पहुंचे सरकारी योजनाओं का लाभ – कुमार अरविन्द सिह देव

समाज के पात्र व्यक्ति तक पहुंचे सरकारी योजनाओं का लाभ – कुमार अरविन्द सिह देव

मेरठ | प्रदेश सरकर चाहती है कि उनके द्वारा जो भी योजनाएं एवं कार्यक्रम संचालित किए, जा रहे है उनका प्रत्येक पात्र व्यक्ति को समय से लाभ मिले तथा प्रदेश में कानून का राज स्थापित हो एवं शान्ति व्यवस्था कायम रहे। यह विचार आज महानिदेशक, राज्य प्रशासनिक एवं प्रबन्धक अकादमी उप्र शासन तथा जनपद के नोडल अधिकारी कुमार अरविन्द सिंह देव ने बचत भवन सभागार में प्रगट किए। वे शासन की प्राथमिकता वाले कार्यों एवं कानून व्यवस्था की विस्तार से समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने अधिकारियों को आदेश दिया कि वह शासन की मंशा के अनुरूप अपने विभागीय दायित्वों का निर्वहन करें और जनहित में कार्य कर शासन की योजनाओं को मूर्त रूप दें। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि आईजीआएस पोर्टल पर प्राप्त होने वाले शिकायतों के निस्तारण से पीड़ित संतुष्ट होना चाहिए तथा ग्रामों व शहरों में शासन के निर्देशानुसार निर्बाध विद्युत आपूर्ति मिलनी चाहिए।

सबका साथ सबका विकास

बैठक में कुमार अरविन्द सिंह देव ने कहा कि प्रदेश सरकार का उद्देश्य सबका साथ सबका विकास का है इसलिए अधिकारी योजनाओं के क्रियान्वयन एवं विकास कार्यों में लापरवाही न बरतें अन्यथा वह ऐसे अधिकारियों के विरूद्ध स्वंय कार्यवाही करेंगे। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वह यह सुनिश्चित करें कि जनपद में जो भी विकास परियोजनाएं संचालित है उनको समय पर गुणवत्ता के साथ पूर्ण करायें और आमजन को उपयोग हेतु सुपुर्द करें।

खराब ट्रांसफार्मर समय से बदलें
समीक्षा बैठक में आईजीआरएस पोर्टल पर प्राप्त होने वाली शिकायतों के निस्तारण की समीक्षा करते हुए उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वह सभी शिकायतों को गुणवत्ता व समयबद्धता के साथ निस्तारण करें तथा निस्तारण इस प्रकार हो कि शिकायकर्ता उससे संतुष्ट हो सकें। उन्होंने विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि वह खराब ट्रांसफार्मरों को निर्धारित समय में ठीक करायें तथा जहां जर्जर तार व फाल्ट हो तो उसको भी समय रहते ठीक करें। उन्होंने विद्युत अधिकारियों को शासन के निर्देशानुसार शहरी क्षेत्र में 24 घण्टे तथा ग्रमीण क्षेत्रों में 18 घण्टे व तहसील स्तर पर 20 विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये।

किसानों के हित की न हो हानि
उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि यह सरकार किसानों के हित की सरकार है और उनके लिए नित नए प्रयास किए जा रहे है। उन्होंने कृषि कार्य हेतु खाद बीज, व पानी की उपलब्धता कराने के निर्देश सम्बंधित अधिकारी को दिये। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि सरकार द्वारा किसानों के लिये जो योजनाएं संचालित है उसका अधिक से अधिक प्रचार प्रसार करायें ताकि किसान अपना आर्थिक उत्थान कर सके।

ई-टेंडरिंग भ्रष्टाचार मिटाने में सहायक
बैठक में अरविन्द सिंह देव ने ई-टेण्डरिंग, सड़कों को गड्ढामुक्त, गन्ना भुगतान, नमामि गंगा योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं, कौशल विकास मिशन, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना, राष्ट्रीय कृषि विकास योजना, अमृत एवं स्मार्ट सिटी योजना, मनरेगा, अटल पेशन योजना, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, आंगनबाड़ी केन्द्रों की स्थापना, बाल विकास एवं पुष्टाहार आदि विभागों की विभागवार समीक्षा की तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिये। उन्होंने स्टाम्प, आबकारी, वाणिज्यकर आदि की कम प्रगति पर नाराजगी व्यक्त की तथा राजस्व से जुड़े अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह अच्छी कार्ययोजना बनाकर राजस्व वसूली के लक्ष्यों को प्राप्त करें।

किसान ऋण माफ़ी प्रमाणपत्र
जिलाधिकारी समीर वर्मा ने बताया कि शासन की महत्वाकांक्षी ऋण मोचन योजना के अन्तर्गत प्रथम चरण में 5 हजार पात्र किसानों को फसल ऋण मोचन योजना के प्रमाण पत्र वितरित किये जा चुके है तथा शेष पात्रों को भी आगामी कार्यक्रमों में प्रमाण पत्रों का वितरण किया जाएगा। जनपद में पोर्टल पर 123217 का डाटा बैंको द्वारा फीड किया गया, जिसके सापेक्ष 39316 किसानों का आधार कार्ड से लिंक किया जा चुका है तथा शेष के आधार फीडिंग का कार्य किया जा रहा है।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी आर्यका अखौरी ने बताया कि जनपद में अब तक आईजीआरएस पोर्टल पर 96 प्रतिशत तथा तहसील समाधान दिवसों में 94 प्रतिशत शिकायतों का गुणवत्ता के साथ निस्तारण किया गया है। उन्होंने बताया कि जनपद में 74 प्रतिशत राशन कार्डो को आधार कार्ड से लिंक किया गया है तथा शहरी क्षेत्र में पीओएस मशीन का वितरण कराया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अन्र्तगत जनपद की कुल 489 ग्राम पंचायतों के सापेक्ष 206 ओडीएफ घोषित की गयी हैं तथा अक्टूबर 2017 तक जनपद को पूणर्तः ओडीएफ घोषित करा लिया जाएगा। सर्व शिक्षा के अभियान के अन्र्तगत विद्यालयों में किताबों और ड्रेस के वितरण शतप्रतिशत कर दिया गया है।

कानून व्यवस्था की समीक्षा के दौरान प्रदेश के महानिदेशक,राज्य प्रशासनिक एवं प्रबन्धक अकादमी उ0प्र0शासन/जनपद के नोडल अधिकारी कुमार अरविन्द सिंह देव ने पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया वह जनपद में कानून एवं शान्ति व्यवस्था बनाये रखने के लिये क्राइम पर नियंत्रण रखें।उन्होंने कहा कि शासन की प्राथमिकता है कि कोई भी अपराधी सजा से न छूट पायें इसलिए वारंट को समय पर तामील करायें। उन्होंने कहा कि कुख्यात अपराधियों के केसों में साक्ष्यों को सही से प्रस्तुतीकरण करें, जिससे केस की पैरवी अच्छी हो सके और उन्हें अधिक से अधिक सजा दिलायी जा सके।

उन्होंने कहा कि पुलिस अधिकारी किसी भी दशा में निर्दोषों का उत्पीड़न न होने दें तथा दोषी को सजा अवश्य दिलायें और अपने सूचना तंत्रों को सक्रिय कर असामाजिक तत्वों के विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही अमल में लाये। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि शान्ति व्यवस्था भंग होने की दशा में ही एनएसए की कार्यवाही की जाएं।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मंजिल सैनी ने जनपद के नोडल अधिकारी कुमार अरविन्द सिंह देव को बताया कि जनपद में कानून एवं शान्ति व्यवस्था के लिये निरंतर कार्य किया जा रहा तथा पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिये गये है कि किसी भी हाल में निर्दोष का उत्पीड़न न हों और थाना दिवसों में समस्याओं का गुणवत्ता एवं आपसी समझौते के आधार पर निस्तारण किया जा रहा है।

इस अवसर पर डीएफओ अदीति शर्मा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. राजकुमार, अपर जिलाधिकारी वित्त आनन्द कुमार शुक्ला, एमडीए सचिव राज कुमार, अपर नगर आयुक्त , पीडीडीआरडीए भानू प्रताप सिंह, नगर मजिस्ट्रेट एमपी सिंह, जिला विकास अधिकारी अतुल मिश्रा, सहित सभी जिलास्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।

By विशाल पंडित : Tuesday 23 जनवरी, 2018 23:20 PM