ताज़ा खबर :
prev next

साफ़-सफाई केवल सफाईकर्मी का ही दायित्व नहीं, यह हम सब की सामूहिक ज़िम्मेदारी है- राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

साफ़-सफाई केवल सफाईकर्मी का ही दायित्व नहीं, यह हम सब की सामूहिक ज़िम्मेदारी है- राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

कानपुर। प्रदेश सरकार 15 सितंबर से 2 अक्टूबर तक प्रदेश में स्वच्छता पखवाड़ा मनाने जा रही है। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने कानपुर के ईश्वरीगंज(बिठूर) से “स्वच्छता ही सेवा” अभियान की शुरुआत की। इस मौके पर उनके साथ राज्यपाल राम नाइक, केन्द्रीय पेयजल व स्वच्छता मंत्री उमा भारती, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, व कानपुर से सांसद मुरली मनोहर जोशी मौजूद रहे।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा, स्वच्छता अभियान देश का भाग्य बदलने का अभियान है। इसकी सफ़लता के लिए सभी की सहभागिता आवश्यक है। स्वच्छता की जड़ों को मजबूत करने और समाज से गंदगी दूर करने पर देश की जीडीपी पर भी सकारात्मक असर पड़ता है।

उन्होंने कहा साफ़-सफाई केवल सफाईकर्मी का ही दायित्व नहीं है, यह हम सब की सामूहिक ज़िम्मेदारी है। गंदगी किसी भी समाज के लिए अभिशाप है। स्वच्छता के प्रति जनजागरण की आवश्यकता है। देश के प्रत्येक नागरिक को राष्ट्र निर्माता के तौर पर देश के विकास में योगदान देने की आवश्यकता। उन्होंने कहा 15 सितंबर से 2 अक्टूबर तक प्रत्येक नागरिक को विशेष स्वच्छता अभियान में अपना महत्वपूर्ण योगदान देना है।

राज्यपाल राम नाइक ने कहा, जब प्रदेश ओडीएफ़ होगा तब देश भी ओडीएफ़ हो जायेगा। स्वच्छता अभियान में राज्यसरकार का पूरा सहयोग है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा, दिसंबर 2017 तक प्रदेश के 30 जिलों को खुले में शौच से मुक्त कर दिया जायेगा। अक्टूबर 2018 तक पूरे प्रदेश को ओडीएफ़ कर दिया जायेगा। साथ ही अपशिष्ट निस्तारण, पेयजल एवं सीवरेज की नई तकनीकि पर बल दिया जायेगा। उन्होंने कहा अब तक 10 लाख शौचालयों का निर्माण हो चुका है, प्रतिदिन 15 हजार शौचालय बनाये जा रहे हैं।

इस मौके पर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना सहित प्रदेश सरकार के अन्य मंत्री और पेयजल व स्वच्छता अभियान से जुड़े शासन-प्रशासन के अधिकारी व कानपुर के आमजन मौजूद रहे।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।