ताज़ा खबर :
prev next

कलेक्ट्रेट परिसर में दलालों की उपस्थिति पर लगे रोक, योजनाओं का लाभार्थियों को सीधे मिले लाभ – ऋतू महेश्वरी

कलेक्ट्रेट परिसर में दलालों की उपस्थिति पर लगे रोक, योजनाओं का लाभार्थियों को सीधे मिले लाभ – ऋतू महेश्वरी

गाज़ियाबाद | जिलाधिकारी ने आज विकास भवन में जनपद स्तर पर संचालित विभिन्न विकास योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को योजना वार समीक्षा करते हुए शासन से अब तक प्राप्त एवं और खर्च की गई धनराशि के अनुरूप हुई प्रगति का ब्यौरा देने के निर्देश देते हुये कहा कि योजनाओं का कियान्वयन निर्धारित समय में एवं गुणवत्ता परक होना चाहिये।

उन्होंने सभी विभागों को निर्देशित करते हुए कहा कि वे अपने विकास कार्यक्रम क्रियावन की सूचनाऐं हर माह की 7 तारीख तक ऑनलाइन वेवसाइट पर अपलोड कराये जिसकी समीक्षा हर माह की 7 तारीख को समीक्षा बैठक में की जायेगी। करीब 4 घण्टे तक चली समीक्षा बैठक में 61 बिन्दुओं पर समीक्षा की गयी। जिलाधिकारी ने सभी कार्यालय अध्यक्षों को शासन के निर्देशों का पालन करते हुए सुबह 9 बजे से 11 बजे तक का समय जनता की शिकायतें सुनने के लिए कहा। जो शिकायतें दर्ज हो उनका निस्तारण गुणवत्तापूर्ण व समय हो, साथ ही शिकायत कर्ता को निस्तारण की प्रतिलिपि भेजी जाये। सभी कार्यालयों में साफ सफाई का विशेष ध्यान रखा जाये जिसकी सीधी जिम्मेदारी कार्यालय अध्यक्ष की होगी।

उन्होने कार्यालयो मे तैनात कर्मचारियों की हाजिरी पर विभाग अध्यक्षों को पैनी नजर रखने के लिए निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि वह स्वयं ही औचक निरीक्षण कर सभी कार्यालयों में उपस्थिति का आंकलन करेगी। उन्होंने बायोमेट्रिक उपस्थिति सिस्टम शुरू कराने की बात कही। उन्होंने सभी को निर्देशित करते हुए कहा कि भ्रष्टाचार अब बर्दाश्त नहीं होगा। सरकार की योजनाओं द्वारा लाभार्थियो के लिए जो पैसा आता है वह सीधा उन तक पहुंचे। कोई भी निर्माण कार्य गुणवत्तपूर्ण हो जिसकी समय-समय पर फोटाग्राफी व वीडियोग्राफी कर उसकी गुणवत्ता की जाँच की जा सके। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि आईजीआरएस के माध्यम से मिली शिकायतों के लिए सम्बन्धी सम्बन्धित अधिकारी ही जिम्मेदार होगा। जनता की समस्याओं को प्यार से सुने ताकि उन्हें महसूस हो की हम उनके लिए है और उन पर अपना विश्वास बनाए।

उन्होने सरकारी किसी भी परिसर में दलालों की उपस्थिति पर रोक लगाने के कंडे निर्देश दिए। अगर कोई इन गतिविधियों में लिप्त पाया मिलता है तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त करवायी की जायेगी। हर विभाग अपने विभागों की चल रही योजनाओं की एक बुकलेट बनवाये और उसमें दिये गये निर्देशों का अनुपालन करें। जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग के कार्यों पर असन्तोष जताते हुए मुख्य चिकित्साधिकारी को कड़े स्वर में अपने विकास कार्यों को जल्द सुधारने की चेतावनी दी।

उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को राजकीय चिकित्सालयों में चिकित्सकों की समय से उपस्थिति सुनिश्चित करने तथा दवाइयों की उपलब्धता बनाये रखने के निर्देश दिये। उन्होंने बच्चों एवं गर्भवती महिलायों का टीकाकरण पुष्टाहार कार्यक्रम की समीक्षा करते हुये ज्यादा से ज्यादा महिलाओ एवं बच्चों को इन योजनाओ में कवर करने की बात भी कही.।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी रमेश रंजन ने जनपद में संचालित विभिन्न विकास कार्यक्रमों एवं योजनाओं की प्रगति के सम्बन्ध में जानकारी दी। इस अवसर पर ने इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन ज्ञानेन्द्र सिंह, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व राजेश कुमार, उप जिलाधिकारी सदर प्रेम रजंन सिंह सहित सभी विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।